रोक के बाद भी बिहार में जहरीली शराब से मर रहे है लोग, 10 की हालत गंभीर

पटना: बिहार में पूर्ण शराबबंदी लागू है, किन्तु वहां जहरीली शराबों से मौत की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है। अब बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी के विधानसभा क्षेत्र (इमामगंज) के समीप पथरा गांव में जहरीली शराब पीने से दो व्यक्तियों की मौत हो गई है, जबकि 10 व्यक्तियों की स्थिति गंभीर है। हालांकि जहरीली शराब पीने से मौत की पुष्टि अभी तक प्रशासन की ओर से नहीं की गई है।

मामला गया जिले के पथरा गांव का है जहां पिछली रात एक दर्जन से ज्यादा महादलित परिवार के लोगों ने जहरीली शराब का सेवन किया था। तत्पश्चात, 2 व्यक्तियों की मौत हो गई जबकि 10 अन्य लोग गंभीर है। पीड़ितों को उपचार के लिए अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।

आपको बता दें कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी है जिसके बाद भी तस्कर लोगों के बीच जहरीली शराब बेचने से भी बाज नहीं आते हैं। प्रदेश में शराब नीति में निरंतर संशोधन के बावजूद स्थिति बदतर हैं। गया के अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज में जीवन तथा मौत के बीच झूल रहे पीड़ित के परिवार वाले बहुत परेशान हैं। शराब पीने से जिन दो व्यक्तियों की मौत हुई है उनका नाम अमर पासवान तथा अर्जुन पासवान है जो रिश्ते में चाचा-भतीजा हैं। जो लोग जहरीली शराब पीने के बाद हॉस्पिटल में जिंदगी की जंग लड़ रहे हैं उसमें अजय पासवान, बसंत यादव, लालदेव यादव, सुमन पासवान, हरेंद्र पासवान, कैलाश यादव तथा संजय यादव सम्मिलित हैं। खबर के मुताबिक, सोमवार की रात में सभी लोगों ने शराब का सेवन किया था जिसके बाद अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गई। स्थिति खराब होने के बाद उन्हें नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया जहां 2 व्यक्तियों की उपचार के दौरान मौत हो गई जबकि 7 लोगों का उपचार चल रहा है। वहीं 2 लोगों की स्थिति अधिक गंभीर होने के बाद उन्हें बेहतर उपचार के लिए गया के मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

फिर रोकी गई केदारनाथ यात्रा, हेली सेवाएं भी हुई निलंबित

इस कारण फैला मंकीपॉक्स, WHO एक्सपर्ट ने किया दावा

प्यार की अनूठी मिसाल! पत्नी के लिए भिखारी ने खरीदी मोपेड

Most Popular

- Sponsored Advert -