उद्यमिता विकास समय की जरूरत - इवांका

By Mohan Joshi
Dec 01 2017 02:52 PM
उद्यमिता विकास समय की जरूरत - इवांका

वैश्विक उद्यमशीलता शिखर सम्मेलन में इवांका ट्रंप ने व्यवसाय में महिला भागीदारी बढ़ाने का आह्वान कर इसे समय की जरूरत बताया.यह भारत के आर्थिक जगत को नया संदेश है. इससे भारतीय महिलाओं को प्रोत्साहन मिलेगा.भारत के उद्योग जगत में कई महिलाएं शीर्ष स्थान पर पहुंची हैं, लेकिन इसे मंज़िल नहीं समझना चाहिए.इस मामले में भारत में बहुत कुछ किया जाना बाकी है.जिसके लिए सबसे पहले महिलाओं के प्रति नजरिया बदलने की जरूरत है.

उल्लेखनीय है कि महिला उद्यमिता विकास से सामाजिक प्रतिष्ठा बढ़ने के साथ ही रोजगार की उपलब्धता होगी , महिला बेरोजगारी की समस्या में कमी होने से राष्ट्रीय उत्पादकता में वृद्धि से जीवन स्तर में सुधार की संभावना बढ़ेगी. समाज के सभी तबकों के सभी क्षेत्रों में समान महिला पुरुष अनुपात दर्ज होना चाहिए.  वाशिंगटन स्थित ग्लोबल आंत्रप्रेन्योरशिप एंड डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट (जीईडीआई ) के 2014 में जारी इंडेक्स में 30 देश शामिल थे. उनमें भारत 26वें स्थान पर था. इससे स्पष्ट है कि देश में महिला उद्यमियों के स्थिति अच्छी नहीं है.उनके लिए अभी बहुत कुछ किया जाना बाकी है.

बता दें कि भले ही भारत में  महिलाएं कारोबार के क्षेत्र में भी आगे आ रही हैं, लेकिन पुरुषों के मुकाबले उन्हें ज्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ता है.भेदभाव के अलावा महिलाओं की योग्यता पर सवाल उठाए जाते हैं. यही कारण है कि महिला उद्यमिता सूचकांक की 2015 की सूची में शामिल 77 देशों में से भारत 70वें स्थान पर होना सोचने को विवश करता है. इसीलिए समाजशास्त्री प्रोफेसर धीरेंद्र पटनायक महिला उद्यमियों की राह में आने वाली बाधाओं को दूर करने के लिए पहले समाज का नजरिया बदलने की जरूरत पर बल देते है.

यह भी देखें

मोदी-इवांका की सुरक्षा में लगी सेंध

इवांका जानेंगी भारत का इतिहास