नाईट कर्फ्यू के बाद नागपुर में लगा सम्पूर्ण लॉक डाउन, सड़कों पर उतरे व्यापारी

बीते कई दिनों से कोरोना का कहर तेजी से बढ़ता जा रहा है, इतना ही नहीं महाराष्ट्र में कोविड के बढ़ते मामलों के मध्य नागपुर में लगा लॉकडाउन कुछ समय पहले ही हटाया गया था. लेकिन नागपुर में कोविड के मामले लगातार बढ़ते जा रहे है, जिसके उपरांत पहले 21 मार्च तक लॉकडाउन लगाया गया था, जिसे बाद में 31 मार्च तक के लिए बढ़ाने का फैसला किया गया था. लेकिन अब यहां के प्रशासन ने लॉकडाउन हटाने का निर्णय लिया था. जंहा इस बात का पता चला है कि नागपुर में राज्य सरकार के नियम ही लागू कर दिए गए. यानी कि बाकी जिलों की तरह नागपुर में भी नाइट कर्फ्यू ही जारी रहने की कहनारें थी. 

लॉकडाउन हटाने के सूचना देते हुए नागपुर के प्रभारी मंत्री नितिन रावत ने बोला था कि- अब सिर्फ राज्य सरकार की तरफ से जो प्रतिबंध जारी किए जाएंगे  , वहीं नागपुर में भी लागू होंगे. नागपुर में अब नाइट कर्फ्यू जारी किया जा रहा है. नाइट कर्फ्यू के बीच रात में निकल तो सकते हैं, लेकिन सार्वजनिक कार्यक्रम या भीड़ इकट्ठी नहीं हो सकती. 

लेकिन अभी अभी जानकारी मिली है कि नागपुर में एक बार फिर लॉकडाउन लगाने का फैसला किया जा चुका, और ऐसा कहा जा रहा कि ये लोखड़ौन  30 अप्रैल तक रहने वाला है। यहां छोटे व्यापारियों के सामने भूखे मरने की नौबत आ चुकी है। क्योकि इसके पूर्व ही 15 दिन का लॉकडाउन पहले ही लग चुका था। किसी तरह सबने सब्र किया गया था। अब व्यापारियों ने बगावत कर दी। उसकी कुछ फोटो भेज रहा हूँ। अब व्यापारियों और पुलिस के बीच सड़कों पर संघर्ष की स्थिति बन गई।

वोटिंग समाप्त होने के बाद स्कूटी पर EVM मशीन ले जा रहे लोगों को भीड़ ने घेरा और फिर...

कोरोना से महाराष्ट्र में बेकाबू हुए हाल, राज्य मंत्री ने कहा- "सिर्फ 3 दिन का वैक्सीन स्टॉक..."

कमल हासन की बेटी श्रुति हासन पर भाजपा ने लगाए गंभीर आरोप, जानिए क्या है मामला?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -