हिंदी माध्यम में शुरू हुआ इंजीनियरिंग कोर्स, छात्रों ने लिया दाखिला

आज के इस दौर में शिक्षा ग्रहण करना और भी आसान हो गया है .लोग बड़ी ही सरलता के साथ किसी न किसी क्षेत्र में डिग्री ,डिप्लोमा हासिल कर रहे है .अभी तक यह होता था की लोगों को इंग्लिश माध्यम की वजह से कुछ समस्या उत्पन्न होती थी पर लो,अब तो और भी सरल हो गया की आप अपने इस हिंदी माध्यम के जरिये डिग्री हासिल कर पायेगें .

हाल ही में मध्य प्रदेश के अटल बिहारी वाजपेयी हिन्दी विश्वविद्यालय से सम्बंधित देश का पहला हिन्दी इंजीनियरिंग कोर्स की शुरुआत हो चुकी है .राज भवन के नजदीक पुराने विधान सभा परिसर में इस कोर्स की शुरुआत की गई ,जिसके लिए अभी तक तीन छात्रों ने दाखिला लिया है.

बताया जा रहा है की इस कोर्स के लिए कुल 90 सीटें हैं.संस्थान के द्वारा मिली जानकारी के अनुसार अभी तक तीन छात्रों ने दाखिला लिया और आगे और भी छात्रों के आने की प्रवल सम्भावना है. यह विश्वविद्यालय मध्य प्रदेश के बीजेपी सरकार की पसंदीदा परियोजना है. सरकार को इस कोर्स के लिए, ग्रामीण क्षेत्रों से काफी उम्मीदें है उनका मानना है की ग्रामीण क्षेत्रों से अभी और भी छात्र दाखिला लेगें और अपने भविष्य को एक नई दिशा प्रदान करेगें .सरकार ने इस परियोजना के चलते छात्रों के उज्जवल भविष्य की कामना की है .

विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर प्रोफेसर मोहनलाल छीपा का कहना है  कि इस कोर्स में एक छात्र के होने पर भी हम इसे शुरू करेंगे. हलाकि इस कोर्स से सम्बंधित जानकारी को अखबार के माध्यम से लोगों तक पहुँचाया गया था पर अभी तक तीन ही छात्रों ने दाखिला लिया है .

रोबोटिक्स में भी है बेहतर करियर,जानें कोर्स के बारे में

Game Designer बनना चाहते है तो यह है एक बेहतर संस्थान​

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -