जिस 'गैंगस्टर' को बचाने में जुटी रही कांग्रेस, उस मुख़्तार अंसारी के ठिकानों पर ED की रेड

लखनऊ: केंद्रीय जांच एजेंसी प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। ED ने दिल्ली, लखनऊ, गाजीपुर और मऊ में  मुख्तार अंसारी और उसके करीबियों के कई ठिकानों पर रेड मारी है। यही नहीं मुख्तार के मुहम्मदाबाद स्थित घर पर भी छापा मारा गया है। जांच एजेंसी ने मुख्तार अंसारी और उसके करीबियों पर कार्रवाई की है। ED ने दिल्ली और यूपी के लखनऊ, मऊ और गाजीपुर जिलों में कई ठिकानों पर रेड मारी है। 

इसमें मुहम्मदाबाद स्थित मुख़्तार अंसारी का घर भी शामिल है। इसके अलावा ED ने विक्रम अग्रहरी और गणेश मिश्रा के ठिकानों पर भी रेड मारी हैं। इतना ही नहीं खान बस सर्विस के मालिक के यहां भी ED के छापे पड़े हैं।  

कांग्रेस ने जेल में मुख़्तार अंसारी को दिया था VVIP ट्रीटमेंट :-

इससे पहले मुख्तार अंसारी को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। रिपोर्ट के अनुसार, माफिया मुख्तार अंसारी को जेल में VVIP ट्रीटमेंट देने के लिए पंजाब की कांग्रेस सरकार ने जनता के लाखों रुपये उड़ा दिए थे। इसके साथ ही मुख़्तार अंसारी को उत्तर प्रदेश सरकार से बचाने के लिए भी 55 लाख से अधिक रुपये खर्च किए गए थे। राज्य की आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार की जांच में इसका खुलासा हुआ है। गैंगस्टर से नेता बना मुख्तार अंसारी पंजाब की रूपनगर जेल में दो साल से अधिक दिनों तक कैद रहा था। 

राज्य की भगवंत मान सरकार की जांच में खुलासा हुआ है कि कांग्रेस सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय के एक वरिष्ठ वकील को अंसारी का मुकदमा लड़ने के लिए प्रति सुनवाई 11 लाख रुपये खर्च किए। इस मामले में कुल 5 सुनवाई हुई थीं। इस प्रकार मुख्तार अंसारी के वकील की फीस पर करदाताओं के कुल 55 लाख रुपये उड़ा दिए गए। जेल मंत्री हरजोत बैंस के मुताबिक, जिस दिन सुनवाई नहीं हुई उस दिन कथित तौर पर वकील ने 5 लाख रुपये लिए। वकील द्वारा उठाए गए बिल अभी भी पेंडिंग हैं और AAP सरकार ने बिलों को स्वीकृति देने से इनकार कर दिया है। 

संजय राउत को एक और बड़ा झटका, ED की छापेमारी में हुआ नया खुलासा

कांग्रेस ने किया गुलाम नबी आज़ाद का अपमान ! जम्मू कश्मीर में लगी इस्तीफों की झड़ी

'ऐसे विधायकों को मंत्री बनाया जिनके नाम से लोग कांपते हैं', CM नीतीश पर मोदी ने बोला जमकर हमला

 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -