ओमकार ग्रुप पर चला ED का चाबुक, 410 करोड़ की संपत्ति जब्त

नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने धोखाधड़ी के एक केस में ओमकार ग्रुप के खिलाफ बड़ा एक्शन लिया है। ED ने ओमकार समूह और सचिन जोशी की करोड़ों की संपत्ति को अटैच कर लिया है। लोन फ्रॉड केस में केंद्रीय एजेंसी ने PMLA 2002 के तहत 410 करोड़ रुपये की संपत्तियों पर ये कार्रवाई की गई है। 

ED के अधिकारियों ने शनिवार को जानकारी देते हुए बताया है कि लगभग 330 करोड़ रुपये के फ्लैट्स को बिक्री भवन के टॉवर सी यानि ओमकार 1973 के वर्ली में मेसर्स ओमकार समूह और एक कंपनी से जुड़े करीब 80 करोड़ रुपये मूल्य के पुणे के विरम में स्थित एक खुली भूमि को जब्त किया है। यह सचिन जोशी के स्वामित्व में है। एजेंसी ने सिटी चौक पुलिस स्टेशन, औरंगाबाद द्वारा 2020 में दर्ज हुई FIR के आधार पर धनशोधन की जांच शुरू की थी।

ED लोन फ्रॉड मामले को लेकर पिछले साल जनवरी से जांच कर रही है। इस केस में एजेंसी ने मेसर्स ORDPL के प्रबंध निदेशक बाबूलाल वर्मा, मेसर्स ORDPL के प्रमुख कमल किशोर और सचिन जोशी को अरेस्ट भी किया था। ED ने पहले 26 मार्च 2021 को मामले में मुंबई में सेशन कोर्ट के समक्ष अभियोजन शिकायत दाखिल की थी।

दिगंबर जैन मंदिर में चोरों का हमला, दो दान पेटी के साथ सिंहासन ले उड़े

लिफ्ट देने के बहाने बदमाशों ने लड़की को कार में बिठाया, और फिर जो किया उसे जानकर रह जाएंगे दंग

गलत नाम बताकर दलित नाबालिग को दिल्ली ले गया आरिफ, कई बार किया बलात्कार

Most Popular

- Sponsored Advert -