दाउद के खास इकबाल मिर्ची के दो सहयोगी गिरफ्तार, मनी लॉन्डरिंग का है आरोप

Oct 12 2019 03:48 PM
दाउद के खास इकबाल मिर्ची के दो सहयोगी गिरफ्तार, मनी लॉन्डरिंग का है आरोप

नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने भगोड़े अपराधी दाऊद इब्राहिम के दाएं हाथ इकबाल मिर्ची के खिलाफ धन शोधन मामले की जांच के सिलसिले में शुक्रवार को हारून अलीम यूसुफ और रंजीत सिंह बिंद्रा को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों को पांच दिनों की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है। अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि की है। मिर्ची की लंदन में 2013 में मौत हो गई थी।

वहीं, ED ने इकबाल मिर्ची की बेनामी संपत्तियों को चिन्हित किया है, जिनमें मुंबई में 10 संपत्तियां, संयुक्त अरब अमीरात में एक संपत्ति और यूके में 25 संपत्तियां शामिल की गई हैं। ईडी भारत में संपत्तियों को अटैच करने के लिए प्रक्रिया आरंभ करेगा और संपत्तियों को संलग्न करने के लिए ब्रिटेन और यूएई को पत्र पहुंचाएगा। अधिकारियों ने बताया है कि मामले में जांच में कथित रूप से सहयोग नहीं करने के लिए हारून अलीम यूसुफ और रंजीत सिंह बिंद्रा को मनी लॉड्रिंग रोकथाम कानून के तहत गिरफ्तार किया गया। 

ED ने मिर्ची और अन्य लोगों के खिलाफ मुंबई पुलिस द्वारा दर्ज FIR के आधार पर यूसुफ तथा बिंद्रा के खिलाफ धन शोधन का आपराधिक मामला दर्ज किया था। एजेंसी के सूत्रों ने कहा कि यह केस मिर्ची द्वारा सितंबर 1986 में सर मोहम्मद यूसुफ ट्रस्ट की तीन संपत्तियों को उसकी कंपनी रॉकसाइड एंटरप्राइज के जरिए 6.5 लाख रुपये में खरीदने से संबंधित है

फेसबुक की डिजिटल करेंसी लांच करने की महत्वाकांक्षी योजना अधर में लटकी, जाने कारण

केंद्रीय मंत्री नकवी ने गिनाए एफडीआइ नियमों में सुधार के फायदे

इस राज्य में एक दिन के लिए छात्राओं को बनाया गया डीएम और एडीएम