हैदराबाद एनकाउंटर पर बोले मेघालय के राज्यपाल, कहा-लोगों को बाहर ले जाकर गोली मार देना, यह ठीक नहीं...

Dec 08 2019 12:04 PM
हैदराबाद एनकाउंटर पर बोले मेघालय के राज्यपाल, कहा-लोगों को बाहर ले जाकर गोली मार देना, यह ठीक नहीं...

किसी भी अपराध में आरोपियों के एनकाउंटर करने को  मेघालय के राज्यपाल तथागत रॉय ने गलत करार दिया है. हैदराबाद मामले में चारों आरोपियों का पुलिस द्वारा एनकाउंटर करने के बाद रॉय ने यह प्रतिक्रिया दी है. रॉय ने कहा कि किसी भी आपराधिक मामले में सजा अदालत द्वारा ही दी जानी चाहिए. 

CJI शरद अरविंद बोबडे ने दिया बड़ा बयान, कहा-बदले की भावना से किया गया इंसाफ...

अपने बयान में उन्होंने कहा, 'मैं कभी भी यह स्वीकार नहीं कर सकता कि आपराधिक मामलों में न्याय के लिए एनकाउंटर कभी भी मानक प्रक्रिया बन सकता है. लोगों को गिरफ्तार करना चाहिए, अदालत के सामने पेश किया जाना चाहिए, चार्जशीट फाइल होनी चाहिए और कोर्ट वह सजा सुनाएगी जो वाजिब होगी. लेकिन, लोगों को बाहर ले जाकर गोली मार देना, यह ठीक नहीं है.'

दिल्ली में भड़की भीषण आग ने ली कई लोगों की जान, पीएम मोदी और अमित शाह ने जताया दुःख

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि हैदराबाद में पशु चिकित्सक के साथ दुष्कर्म कर हत्या करने वाले चारों आरोपियों को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया था. तेलंगाना पुलिस के अनुसार आरोपियों को राष्ट्रीय राजमार्ग-44 पर क्राइम सीन रीकंस्ट्रक्ट करने के लिए ले जाया गया था. इस दौरान आरोपियों ने पुलिस हिरासत से भागने की कोशिश की। इसके बाद पुलिस ने उनपर गोलियां चला दीं. इस मुठभेड़ में चारों आरोपियों की मौके पर ही मौत हो गई. 

सेना पर साइबर हमला, इन पड़ोसी देशों के हाथ होने की संभावना

कई लोगों ने पुलिस के इस एनकाउंटर को लेकर सराहना की तो कई ने इस पर सवाल भी उठाए. एक ओर जहां पूर्व क्रिकेटर और भाजपा सांसद गौतम गंभीर, राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष और बाबा रामदेव जैसी हस्तियों ने इसका समर्थन किया तो दूसरी ओर कांग्रेस सांसद शशि थरूर, सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज मार्कंडेय काटजू और एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने इसे समाज के लिए अस्वीकार्य बताया.

फिर मोदी सरकार के विरोध में खड़ी हुईं ममता बनर्जी, दे डाली खुली चेतावनी

इंदौर: आग लगने से तीन बसें हुईं राख, यात्रियों में मची भगदड़

छत्तीसगढ़ में 6 वर्षीय मासूम के साथ बलात्कार, 15 साल का आरोपी गिरफ्तार