सामने आई EPFO के नियमों में बदलाव की मांग

नई दिल्ली : राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ समर्थित भारतीय मजदूर संघ के साथ ही अन्य कई ट्रेड यूनियनों ने हाल ही में एक मांग को तेज किया है. इसके अनुसार यह बताया जा रहा है कि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) को या तो बेरोजगार अंशधारकों को अपना पूरा PF निकाले जाने की इजाजत दी जानी चाहिए या फिर ब्याज का भुगतान किया जाना चाहिए.

इस मामले में इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस के उपाध्यक्ष और ईपीएफओ न्यासी अशोक सिंह का भी एक बयान सामने आया है. जिसके अनुसार यह बात कही गई है कि या तो बेरोजगार अंशधारक को पूर्ण भुगतान किया जाए या फिर उक्त व्यक्ति को इसके लिए उचित रूप से नियमित ब्याज प्रदान किया जाए.

गौरतलब है कि महीने की शुरुआत में ही ईपीएफओ के द्वारा करीब 5 करोड़ से भी अधिक अंशधारकों को पीएफ खाते से धन निकलने के नियमों को और भी कड़ा बनाया गया है. अब अंशधारक दो महीने तक नौकरी नहीं मिल पाने के बाद पीएफ खाते में अपनी जमा राशि और उस पर ब्याज का 90 फीसदी ही निकाल सकते हैं.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -