अभिभावकों पर भावनात्मक अत्याचार, एमराल्ड हाइट्स स्कूल भरवा रहा है ये बॉन्ड

इंदौर : मध्य प्रदेश के इंदौर में डीपीएस बस हादसे के बाद देश भर में बच्चों की सुरक्षा को लेकर स्कूल प्रशासन के परतो लोगों का गुस्सा शांत नही हुआ है, इसी बीच स्कूल संचालक अब एक नया रास्ता निकल कर लाये है जिससे उन्हें किसी भीघटना का जिम्मेदार न समझा जाये. इंदौर शहर के एमराल्ड हाइट्स इंटरनेशनल स्कूल ने खुद को बचाने के लिए अभिभावकों से बॉन्ड भरवाना शुरू कर दिया है. इसमें ये लिखा गया है कि यदि स्कूल में किसी हादसे में बच्चे की मौत भी हो जाए तो उसके लिए स्कूल प्रबंधन जिम्मेदार नहीं होगा.

क्षेत्रीय विधायक जीतू पटवारी का कहना है कि लाखों रुपए फीस वसूलने वाले स्कूल बच्चों की सुरक्षा की जिम्मेदारी से कैसे भाग सकते हैं. ऐसा बॉन्ड भरवाकर तो प्रबंधन बच्चे के साथ कोई भी अप्रिय घटना होने पर पूरी तरह बरी हो जाएगा. ये अभिभावकों पर भावनात्मक रूप से अत्याचार करना है और सरकार स्कूल के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए. डीपीएस स्कूल के गैर जिम्मेदाराना रवैये को अभिभावक भुला भी नहीं पाए हैं और एमराल्ड हाइट्स स्कूल की मनमानी का एक नया मामला सामने आ गया. पहले इसी स्कूल में एक छात्र की फुटबॉल खेलने के दौरान करंट लगने से मौत हो गई थी. इसके लिए अभिभावकों ने स्कूल प्रबंधन की लापरवाही को जिम्मेदार ठहराया था.स्कूल प्रबंधन की अमानवीय हरकत पालको के के लिए मुसीबत का सबब बन गई है. अब बच्चों के भविष्य और सुरक्षा दोनों में से किसी एक को चुनने जैसी विकत परिस्थिति में फ़से अभिभावक फ़िलहाल कुछ बोलने की स्थिति में नही है.  


बॉन्ड में ये स्पष्ट किया गया है कि अगर छात्र के स्कूल में संचालित होने वाली किसी भी शैक्षणिक, खेल, वार्षिक या अन्य गतिविधि में भाग लेने के दौरान कोई दुर्घटना होती है. इसमें अगर विद्यार्थी की मौत भी हो जाती है तो इसके लिए स्कूल प्रबंधन जिम्मेदार नहीं रहेगा. न अभिभावक कोई क्षतिपूर्ति पाने के हकदार होंगे, न स्कूल के विरुद्ध कोई केस लगा सकता है.

फ्लोरिडा के बाद एक और अमरीकी स्कूल में गोलीबारी

दुर्घटना में 27 लोगों की जान गई

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -