इस देश में सिर्फ दिखावा करने के लिए होते हैं चुनाव, पहले से पता होता है विजेता का नाम

जल्द ही भारत में चुनाव आने वाले हैं और इसे लेकर अब खबरें आना शुरू हो चुकी हैं. बता दें भारत में अप्रैल से लेकर मई महीने के बीच लोकसभा चुनाव होने वाले हैं. इस बार चुनाव कुल सात चरणों में होंगे, जिसके नतीजों की घोषणा 23 मई को की जाएगी. अब ये तो चुनाव के बाद ही पता चल सकेगा कि सत्ता की चाबी इस बार किसके हाथ में होगी. लेकिन चुनाव आने से पहले हम आपको आज एक ऐसे देश के बारे में बता रहे हैं जहां सिर्फ 'दिखावे' के लिए ही चुनाव कराया जाता है. ऐसा इसलिए क्योंकि यहां नतीजे पहले से ही तय होते हैं.

हम बात कर रहे हैं उत्तर कोरिया के बारे में जहां होने वाले चुनाव को दुनिया का सबसे अनोखा चुनाव कहा जाता है. इस देश में हर पांच साल पर 'सुप्रीम पीपुल्स असेंबली' के लिए चुनाव होते तो हैं, लेकिन यहां के मतदान के दौरान हर मतपत्र पर केवल एक ही उम्मीदवार का नाम होता है और वह नाम कोई और नहीं बल्कि किम जोंग उन का है. जी हां... किम को दुनियाभर के लोग उत्तर कोरिया के तानाशाह के तौर पर जानते हैं. ऐसा कहा जाता है कि किम जोंग की इजाजत के बिना इस देश में कोई भी काम नहीं होता है. वो अगर कानून बना दे तो उसे तोड़ने या फिर उसके खिलाफ विरोध करने की हिम्मत किसी में नहीं है.

10 मार्च कोही उत्तर कोरिया में 'सुप्रीम पीपुल्स असेंबली' के चुनाव को लेकर मतदान हुआ जिसके नतीजे पहले से ही तय माने जा रहे हैं. इस बारे में यहां के एक चुनाव अधिकारी का कहना है कि, 'उत्तर कोरिया में चुनाव में हिस्सा लेना नागरिकों का कर्तव्य है और यहां ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं है जो उम्मीदवार को नकार दे.' बता दें इस देश के मतदाताओं को मतदान करते हुए मतपत्र पर सिर्फ 'हां' या 'नहीं' ही लिखना होता है. अंत में जाकर सूची से यह पता चलता है कि देश के नेतृत्व के साथ कौन है और कौन नहीं.

इस मंदिर में की जाती है खंडित शिवलिंग की पूजा

30 साल का हुआ 'www', गूगल ने बनाया खास डूडल

इस रेस्टोरेंट में आकर कर सकते हैं तोड़फोड़ और निकाल सकते हैं भड़ास

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -