मिलेगी छूट या बढ़ेगी पाबंदियां ? चुनावी रैलियों पर निर्वाचन आयोग की बैठक जारी

नई दिल्ली: चुनावी रैलियों, जुलूस और रोड शो पर पाबंदियों, कोरोना संक्रमण और टीकाकरण की स्थिति की समीक्षा के लिए निर्वाचन आयोग आज बड़ी समीक्षा बैठक कर रहा है. इस बैठक में मुख्य निर्वाचन आयुक्त के साथ सभी आयुक्त और उपायुक्त मौजूद हैं. इसके अलावा उच्च अधिकारी और पांचों चुनावी राज्यों के मुख्य निर्वाचन आयुक्त भी बैठक में शामिल हैं.

इस मीटिंग में राज्यों के प्रमुख सचिव स्वास्थ्य और मुख्य सचिव टीकाकरण और संक्रमण को लेकर अब तक की प्रगति के बारे में जानकारी देने वाले हैं. इनसे बातचीत और चर्चा के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव के साथ समीक्षा बैठक कर आयोग पाबंदियों और रियायत पर निर्णय लेगा. दरअसल, चुनाव आयोग चाहता है कि टीकाकरण का आंकड़ा और मजबूत हो. सूत्रों के अनुसार, प्रथम चरण का चुनाव प्रचार पिछले चुनावों की तरह यदि 72 घंटे पहले ही बंद होगा, तो उससे संभवत: सप्ताह भर पहले छूट मिल सकती है. सूत्रों का कहना है कि छूट मिलेगी भी तो पाबंदियों के साथ. यानी आयोग लगाम में छूट तो देगा, किन्तु फिर भी लगाम अपने हाथ में ही रखेगा.

चुनाव आयोग के सूत्रों के अनुसार, अभी रैलियों, जुलूसों पर तो बंदिश जारी रहेगी. मगर चुनाव प्रचार के दूसरे साधनों और दूसरे क्षेत्र में थोड़ी रियायत मिल सकती है. उदाहरण के रूप में छोटी सभाएं, घर घर संपर्क अभियान जैसी चीजों को लेकर छूट बढ़ाई जा सकती है. 

NCP सांसद अमोल कोल्हे ने फिल्म में निभाई 'गोडसे' की भूमिका, मचा बवाल

ओडिशा पंचायत चुनाव: 2.29 लाख से अधिक नामांकन पत्र दाखिल

कांग्रेस ने जितिन प्रसाद को भाजपा में जाने से क्यों नहीं रोका ?

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -