वेल्लोर लोकसभा सीट पर रद्द हो सकते हैं चुनाव, राष्ट्रपति लेंगे अंतिम फैसला

वेल्लोर लोकसभा सीट पर रद्द हो सकते हैं चुनाव, राष्ट्रपति लेंगे अंतिम फैसला

चेन्नई: 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान चुनाव आयोग का प्रयास रहता है कि हर जगह ईमानदारी से वोटिंग हो. लेकिन कई बार चुनाव में कालेधन के उपयोग की खबरें भी आती रहती हैं. तमिलनाडु के वेल्लोर संसदीय क्षेत्र में भी कुछ ऐसा ही हुआ है. यहां से भारी संख्या में नकदी बरामद होने के चलते चुनाव रद्द होने की आशंका जताई जा रही है, इसको लेकर निर्वाचन आयोग ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को भी पत्र लिखा  है.  

उल्लेखनीय है कि लोकसभा चुनाव की अधिसूचना राष्ट्रपति जारी करते हैं, ऐसे में चुनाव को रद्द करना भी उन्हीं के अधिकार क्षेत्र के अंतर्गत आता है. वेल्लोर लोकसभा सीट पर 18 अप्रैल को प्रदेश की अन्य सीटों के साथ ही वोटिंग होनी है. आपको बता दें कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने वेल्लोर जिले में सोमवार को द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) के एक अधिकारी के सीमेंट गोदाम से बड़े पैमाने पर कैश जब्त किया था, जिसके बाद असमंजस की स्थिति पैदा हो हुई है.

सोमवार को आयकर विभाग के अधिकारियों ने एक द्रमुक अधिकारी के सीमेंट गोदाम से कार्टूनों और बोरों से कैश के बंडल बरामद किए थे. द्रमुक अधिकारी को पार्टी के कोषाध्यक्ष दुरईमुरुगन का नजदीकी बताया गया है. नकदी रखने का यह खेल करोड़ों रुपये का है, यही वजह है कि निर्वाचन आयोग इस पर सख्ती बरत रहा है. नकद जब्त करने के बाद, तत्काल यह सवाल उठ रहे हैं कि क्या वेल्लोर लोकसभा सीट में 18 अप्रैल को होने वाले चुनाव रद्द होंगे और किसी अन्य तिथि को कराए जाएंगे. 

खबरें और भी:-

राजनीति में उतरा रविंद्र जडेजा का पूरा परिवार, दो ने ज्वाइन की भाजपा, तो दो गए कांग्रेस के साथ

ममता का कांग्रेस पर वार, कहा- आरएसएस कर रहा प्रणब मुखर्जी के बेटे के लिए प्रचार

लोकसभा चुनाव: केजरीवाल का राहुल पर आरोप, कहा- कर रहे हैं भाजपा की मदद