VIDEO: इतने लाख करोड़ का नुकसान होता है ट्रैफिक से भारत को

दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु और कोलकाता इन चार प्रमुख शहरों में पीक अवर्स (व्यस्त कामकाजी घंटों) के दौरान ट्रैफिक जाम से इकनॉमी को सालाना 1.47 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है. यह बात ग्लोबल कंसल्टेंसी फर्म की एक स्टडी में कही गई है. बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप (BCG) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस सर्वे में सुबह 7-9 और शाम को 6-8 बजे के समय के पीक अवर्स में रखा गया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि नॉन पीक अवर्स के मुकाबले पीक अवर्स में लोगों को दूरी तय करने में डेढ़ गुना से ज्यादा समय लगता है.

चार शहरों में कोलकाता की स्थिति सबसे खराब:
जनवरी में की गई इस स्टडी में यह बात सामने आई है कि इन चार शहरों में कोलकाता की स्थिति सबसे खराब है. वहीं, बेंगलुरु ट्रैफिक जाम के मामले में दूसरे नंबर पर है. वहीं, दिल्ली में सबसे ज्यादा संख्या में रजिस्टर्ड व्हीकल्स (1 करोड़ से ज्यादा) हैं, लेकिन इसके बावजूद अच्छे रोड नेटवर्क के कारण यहां स्थिति अच्छी है. 

दिल्ली के टोटल एरिया में रोड नेटवर्क की हिस्सेदारी करीब 12 फीसदी है. इसके उलट, कोलकाता में रोड नेटवर्क इसके टोटल एरिया का महज 6 फीसदी है. इस सर्वे में हर शहर से 300 लोगों को कवर किया गया है. रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली में सबसे ज्यादा 45 फीसदी लोग अपनी प्राइवेट कारों का इस्तेमाल करते हुए सफर करते हैं. वहीं, बेंगलुरु में उनकी हिस्सेदारी 38 फीसदी है.

एएमयू में जिन्ना की फोटो क्यों- सतीश गौतम

किसान अहसान नहीं मानते- शिवराज सिंह

जिला अस्पताल में संक्रमित मशीन से डायलिसिस का मामला

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -