अमित शाह बोले- 'पहले सिफारिश से मिलते थे पद्म पुरस्कार, और अब...'

वेंकटचलम: आज आंध्र प्रदेश के वेंकटचलम में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने स्वर्ण भारत ट्रस्ट की 20वीं सालगिरह कार्यक्रम को संबोधित किया। इस के चलते उन्होंने कहा कि अधिकांश दल जो सत्ता में होते हैं उनकी सिफारिश से पद्म पुरस्कार प्राप्त होते हैं किन्तु पीएम नरेंद्र मोदी ने ऑनलाइन आवेदन के जरिए जिन्होंने जमीनी स्तर पर कार्य किया उन्हें यह सम्मान दिया।

साथ ही अमित शाह ने कहा, ‘पद्म पुरस्कारों को मैंने पहले भी देखा है तथा आज भी देखा है। मैंने पद्म पुरस्कारों की पुरानी प्रक्रिया का रिकॉर्ड भी देखा है। अधिकांश जो दल सत्ता में होते थें, उनके प्रभाव इलाके के व्यक्तियों को पद्म पुरस्कार प्राप्त होते थे। पहले सिफारिश के बिना पद्म पुरस्कारों की कल्पना भी नहीं हो सकती थी।

वहीं, उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू की प्रशंसा करते हुए शाह ने कहा, ‘एक निर्धन किसान परिवार में जन्म लेकर भारत का उपराष्ट्रपति बनना, भारतीय जनता पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनना, अनेक विभागों का मंत्री बनना तथा प्रत्येक स्थान पर योगदान देना ये किसी भी शख्स लिए बहुत बड़ी बात है। वेंकैया जी को जो भी किरदार मिला, उन्होंने उसे एक डिसिप्लिन तरीके से निभाया।’ अमित शाह ने कहा, ‘नायडू जी ने जिंदगी भर वंशवाद के विरुद्ध काम करके भारत के लोकतंत्र को स्वस्थ रखने की दिशा में कई कोशिश की हैं। शाह ने आगे कहा, ‘कई उतार चढ़ाव से पार्टी को आगे बढ़ाना पड़ता है। अनुशासन के साथ वेंकैया जी ने पार्टी को आगे बढ़ाने का काम किया है।

सीएम शिवराज का अटपटा बयान, बोले- गोबर और गोमूत्र से मजबूत होगी अर्थव्यवस्था...

अखिलेश ने अपमान किया लेकिन काम बहुत किया: शिवपाल यादव

'बाल दिवस' पर बॉलीवुड की इस मशहूर अभिनेत्री ने कमजोर वर्ग के बच्चों के साथ बिताया समय

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -