ऑनलाइन शॉपिंग ने कम किया शॉपिंग माल्स का क्रेज

ऑनलाइन शॉपिंग ने कम किया शॉपिंग माल्स का क्रेज

नई दिल्ली : देश में लगातार ई-कॉमर्स का चलन बढ़ता ही जा रहा है और इस कारण शॉपिंग मॉल को ग्राहकों की कमी का सामना करना पड़ रहा है. ई-कॉमर्स का चलन इतना बढ़ चूका है कि शॉपिंग मॉल 20 से 25 प्रतिशत खाली रहने लगे है और साथ ही इनके किराये में भी 30 प्रतिशत की कमी आई है. इस मामले में उद्योग संगठन एसोचैम ने एक अध्ययन पत्र भी जारी किया है जिसमे यह बताया गया है कि इंटरनेट के बढ़ते उपयोग और लोगों के इस और बढ़ते हुए रुझान से ऑनलाइन बिज़नेस में काफी हद तक बढ़ोतरी हो रही है जिस कारण मॉल को यह संकट देखना पड़ रहा है.

ई-कॉमर्स के बारे में बात करे तो रिपोर्ट में यह बात भी सामने आई है कि यह बिज़नेस पूरे देश में अपने पैर पसार रहा है और इसकी सालाना वृद्धि 35 प्रतिशत बताई जा रही है. इसी के दौरान यह भी कहा जा रहा है कि ई-कॉमर्स का कारोबार 2020 तक 100 अरब डॉलर होने के अनुमान लगाये जा रहे है जोकि अभी 17 अरब डॉलर ही है.

इसके साथ ही इस बात की भी जानकारी दे दे कि ऑनलाइन शॉपिंग को लेकर फ़िलहाल प्रति व्यक्ति का औसत खर्च जहाँ 65 प्रतिशत बताया जा रहा है वहीँ अगले साल इसके 72 प्रतिशत होने की भी उम्मीद है. इसके चलते कई नए शॉपिंग मॉल का काम भी रोक दिया गया है और यहाँ थिएटर या रेस्टोरेंट बनाने का प्लान बनाया जा रहा है.