कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर के बयान से भड़के किसान, बोेले- 'दोबारा दिल्ली आने में देर नहीं लगेगी...'

नई दिल्ली: कृषि कानूनों की वापसी को लेकर भारत के कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर के दिए गए बयान पर किसान भड़क उठे हैं। चेतावनी देते हुए अन्नदाताओं ने कहा है कि दिल्ली से लौटे अवश्य हैं, मगर वापस आने में समय नहीं लगेगा। नरेंद्र तोमर ने कहा था कि देश की स्वतंत्रता के पश्चात् एक बड़ा निर्णय लिया गया था। हम एक कदम ही पीछे हटे हैं, सरकार फिर आगे बढ़ेगी।

महाराष्ट्र के नागपुर में आयोजित एक समागम में कृषि मंत्री तोमर ने अपने बयान में बताया कि देश की स्वतंत्रता के पश्चात् किसानों को और भी ऊंचा मुनाफा दिलाने के मकसद से कानून लाए गए थे। यह एक बड़ा सुधार था। हम एक कदम पीछे हटे हैं, सरकार आगे बढ़ेगी। खेती में परिवर्तन की आवश्यकता है। इस पर किसान नेता जगतार सिंह ने बताया कि हम दिल्ली से लौटे हैं तथा वापस आने में देर नहीं लगेगी। उन्होंने बताया कि यदि हमारे किसान नेताओं ने एक आवाज दे दी, तो चाहे फिर दिल्ली हो या महाराष्ट्र, लाखों की संख्या में किसान फिर से वहां पहुंच जाएंगे। हम उन कानूनों को लागू नहीं होने देंगे जो किसानों की भलाई में नहीं हैं। 

वही एक और किसान नेता हरजीत सिंह ने कहा कि पूरा देश जागरूक हो चुका है तथा कृषि मंत्री का यह बयान देना सही नहीं है। किसान अपने अधिकार के लिए लड़ने से पीछे नहीं हटेगा। वहीं कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने अपने बयान पर स्पष्ट दी है। तोमर ने अपनी सफाई में बताया, "मैंने ये कहा कि भारत सरकार ने अच्छे कानून बनाए थे, अपरिहार्य वजहों से हमने उसे वापस लिया है, भारत सरकार किसानों की भलाई के लिए काम करती रहेगी।" कृषि मंत्री से जब ये पूछा गया कि उन्होंने बताया था कि अभी एक ही कदम पीछे हटे हैं तथा सरकार नया कानून लाएगी तो उन्होंने बताया कि उनके द्वारा ऐसा नहीं बताया गया था तथा ये गलत प्रचार है।    

पीएम मोदी के बच्चों को वैक्सीन लगाने के फैसले पर बोले केजरीवाल-गहलोत- 'हमने कई दफा चिट्ठी...'

आज साल 2021 की आखिरी ‘मन की बात’ करेंगे प्रधानमंत्री मोदी

पीएम मोदी का बड़ा ऐलान, जनवरी की इस तारीख से 15 से 18 साल के बच्चों को लगेगी कोरोना वैक्सीन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -