अमेरिका की परमाणु हथियार मामले में दोहरी नीति

अमेरिका की परमाणु हथियार मामले में दोहरी नीति

अमेरिका: अमेरिका ऐसा देश है जहां की अर्थव्यवस्था बिगड़े तो इससे पुरे वैश्विक अर्थव्यवस्था पर खतरा मंडराने लगता है. अमेरिका के पास दशकों से ऐसे परमाणु हथियार है जो धरती को तबाह कर उसे रहने लायक भी नहीं छोड़े. किन्तु अमेरिकी प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प की महत्वाकांक्षा बड़ी है.

रॉयटर्स में प्रकाशित ट्रम्प के इंटरव्यू के अनुसार, यह बहुत अच्छा होगा यदि किसी देश के पास परमाणु हथियार हों ही ना. किन्तु ऐसा हो नहीं सकेगा, इसलिए ऐसे हथियार रखने के मामले में अमरीका को ही सबसे आगे रहना होगा. अमरीका के पास मौजूद हथियार ब्रिटेन की तुलना में 31 गुना और चीन की तुलना में 26 गुना बड़ा है.वॉशिंगटन स्थित आर्म्स कंट्रोल एसोसिएशन के अनुसार सिर्फ रूस ही ऐसा देश है जो परमाणु शक्ति के मामले में फिलहाल अमरीका से आगे है. अमरीका के पास कुल 6,800 परमाणु हथियार हैं जबकि रूस के पास 7,000 ऐसे ही हथियार हैं.

फाउंडेशन ऑफ़ पीस इन दी न्यूक्लियर एरा के कार्यकारी निदेशक रिक वेमैन ने बीबीसी को बताया कि अमरीका परमाणु हथियार मामले में दोहरी नीतियां रखता है. यदि कोई अन्य देश परमाणु हथियार बनाए तो अमरीका इसके ख़िलाफ़ कड़े कदम उठाता है जबकि उसके ख़ुद के पास दूसरों से कई गुना अधिक हथियार हैं.

ये भी पढ़े 

अमेरिका में मोहम्मद अली के बेटे से पूछा गया कि क्या आप मुस्लिम हो

Trump प्रशासन की प्रेस काॅन्फ्रेंस में CNN जैसे मीडिया को कर दिया बैन

परमाणु हमले को लेकर अमेरिका ने उत्तर कोरिया को चेताया