सीएम योगी से गुहार लगाने के बाद भी महिला शूटर को नहीं मिला न्याय

लखनऊ: उत्तर प्रेदेश में महिलाएं किस हद तक सुरक्षित है आप इस बात का अंदाजा ये खबर पढ़ने के बाद लगा सकते है. राजधानी लखनऊ में एक अंतरराष्ट्रीय महिला खिलाड़ी के साथ गाली-गलौज और मारपीट के मामले में ६ दिन गुजर जाने के बाद भी अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है. दरअसल पीजीआई के रेजिडेंट डॉक्टर पीयूष गुप्ता पर इंटरनेशनल शूटर के साथ बदसलूकी करने के आरोप हैं लेकिन लखनऊ एसएसपी के आदेश के बाद भी फिलहाल कोई कार्रवाई नहीं हुई है. यहाँ तक कि पीडिता ने सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाक़ात कर शिकायत की लेकिन फिर भी कोई एक्शन नहीं लिया गया. 

दरअसल यह पूरा मामला थाना पीजीआई क्षेत्र के पीजीआई हॉस्पिटल का है, यहां पर नशे की हालत में डॉक्टर ने वर्तिका सिंह (महिला शूटर) के साथ अभद्रता की. खिलाड़ी का कहना है कि यह पूरा मामला अधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के संज्ञान में भी है. वर्तिका के मुताबिक उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की और आपबीती बताई. वर्तिका ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्रवाई का आश्वासन दिया लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है.

वर्तिका ने पूरा मामला साफ़ करते हुए बताया कि जब वह अपने भाई के साथ बाइक से जा रही थी तब नशे की हालत ने डॉक्टर पीयूष गुप्ता ने उनकी बाइक को टक्कर मारी. इसके बाद डॉक्टर ने पीजीआई के गेट पर भी उनसे बत्तमीजी करने की कोशिश की. उनका कहना है कि वुमन हेल्पलाइन से भी उनको मदद नहीं मिली. वर्तिका का कहना है कि उन्हें इस मामले में न्याय मिलना चाहिए क्योकि ऐसी घटनाएं समाज के हर क्षेत्र में हो रही है जिसे रोका जाना चाहिए. 

 

गरीब का पैसा बीजेपी ने बैंक से नीरव की जेब में डाला- राहुल

चुनाव से पहले ही येदियुरप्‍पा की शपथ ग्रहण की तैयारी

अब कर्नाटक में बदलाव की बारी - पीएम मोदी

 

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -