योजनाओं की उड़ी हवा, स्कूल में मिले कंडोम और गांजा

जयपुर : एक ओर जहां सरकारें सर्व शिक्षा अभियान, स्कूल चलें हम, समान और अनिवार्य शिक्षा का अधिकार जैसी योजनाओं और उत्कृष्ट विद्यालयों के काॅन्सेप्ट के माध्यम से ग्रामीण और अन्य क्षेत्रों के प्राथमिक, माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों का स्तर सुधारने में लगी हैं वहीं दूसरी ओर देशभर में ऐसे कई स्कूल हैं जहां पर हाईस्कूल और हायरसेकंडरी का परीक्षा परिणाम बेहद कम निकलता है। इसके उलट यहां पर गांजा जैसे नशीले पदार्थों के ही साथ कडोम, ताश की पत्ती आदि पदार्थ मिलते हैं।

इसी तरह के विद्यालय में एक विद्यालय है नागौर का विद्यालय। पुलिस ने इस मामले में जांच प्रारंभ कर दी है। मिली जानकारी के अनुसार नागौर के सबसे बड़े सरकारी विद्यालय राजकीय सोमानी सीनियर सेकंडरी विद्यालय में इसी तरह की चर्चा है। यहां पर परीक्षा परिणाम बेहद खराब आया है। परीक्षा परिणाम के चलते यह विद्यालय चर्चा में है।

इस बात का खुलासा हाईस्कूल का परीक्षा परिणाम आने के बाद हुऔ। दरअसल हाईस्कूल का परीक्षा परिणाम इस विद्यालय में अच्छा नहीं रहा। 20 विद्यार्थियों में से 17 विद्यार्थी तो अनुत्तीर्ण ही हो गए। जब इस बदहाली का कारण जाना गया तो यह जानकारी मिली कि क्लास रूम में यूज़्ड कंडोम, गांजा, ताश और जुऐं के हिसाब - किताब की पर्चियां मिलीं। इस दौरान पुलिस भी स्कूल में पहुंची और प्रकरण दर्ज कर जाॅंच प्रारंभ कर दी है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -