'कमरे में पी शराब, फिर जबरन लगाने लगा गले', अंकिता हत्याकांड में हुआ एक और खुलासा

देहरादून: उत्तराखंड के अंकिता भंडारी हत्याकांड में प्रतिदिन नए खुलासे हो रहे हैं। इस कांड के अपराधी एवं भाजपा नेता के पुत्र पुलकित आर्य की एक-एक करतूत सामने आ रही है। असल में अंकिता ने 17 सितंबर को ही ये फैसला कर लिया था कि वो 18 सितंबर को रिजॉर्ट से काम छोड़ देगी। मगर 19 सितंबर को उस रिजॉर्ट में एक VIP गेस्ट को आना था। तथा रिजॉर्ट का मालिक पुलकित ये नहीं चाहता था कि अंकिता रिजॉर्ट से बाहर से जाए। लेकिन अंकिता 18 सितंबर की रात को ही गायब हो गई थी। अंकिता के दोस्त पुष्प ने अंकिता की पूरी कहानी बताई। पुष्प ने मीडिया से चर्चा में बताया-  इसी वर्ष अगस्त के आरभिंक दिनों की बात है। एक जॉब साइट पर मुझे वनंतरा रिजॉर्ट का ऐड नजर आया। इस रिजार्ट के लिए अलग-अलग पोस्ट पर फीमेल स्टाफ की आवश्यकता थी। ये वो ऐड है, इसमें ये भी लिखा था कि केवल वो लड़कियां यहां आवेदन करें जो घर से बाहर रहने को तैयार हैं। उनके ठहरने के लिए यहां सारी सुविधाएं देने की बात भी कही गई थी। अलग-अलग पोस्ट के लिए वेतन 8 से 16 हजार के बीच थी। अंकिता की ज्वाइनिंग के पहले सप्ताह में ही ऐसी ही एक पार्टी में एक गेस्ट ने शराब पीने के बाद अंकिता को जबरन गले लगाने का प्रयास किया। इस पर अंकिता ने उसी समय पुलकित से इसकी शिकायत की। तब पुलकित ने उस गेस्ट को अंकिता के सामने जमकर डांटा। ये देख कर तब अंकिता की नजर में पुलकित के लिए इज्जत बढ़ गई थी।

पुलकित स्वयं भी रिजॉर्ट में रहा करता था। हालांकि उसका घर हरिद्वार में है। आहिस्ता-आहिस्ता वो अंकिता के नजदीक आने का प्रयास करने लगा। उसने अंकिता को स्कूटी और कार ड्राइविंग सिखाने का भी प्रयास किया। ये कह कर कि कई बार गेस्ट को आसपास ले जाना होता है। फिर एक बार अंकिता से उसने बोला कि रिजार्ट में गेस्ट आने वाले कमरे नहीं हैं, इसलिए तुम मेरे बराबर वाले कमरे में शिफ्ट हो जाओ। रिजॉर्ट में पुलकित जिस कमरे में रहता था वो 2 कमरों का सेट था। लेकिन इंटर कनेक्टेड था। एक-दो दिन अंकिता उसी कमरे में अकेली रही। ज्वाइनिंग के दूसरे सप्ताह में पुलकित ने एक बार गेस्ट आने और कमरे कम होने की बात कह कर अंकिता को अपने साथ उसी इंटरकनेक्टेड रूम में शिफ्ट होने को बोला, ये दूसरी बार था। लेकिन इस बार पुलकित ने अंकिता के रूम में बैठ कर शराब पी, फिर अंकिता को जबरन गले लगाने का प्रयास किया। अंकिता ने जब इसका विरोध किया तो अचानक पुलकित माफी मांगने लगा तथा फिर अपने कमरे में चला गया। अब तक अंकिता को अहसास हो चुका था कि ये रिजॉर्ट नौकरी करने के लिए ठीक जगह नहीं है। उसने ये बात मुझसे भी कही थी। इसी रिजॉर्ट भी आयुष नाम का एक और स्टाफ था। वो अंकिता को बहन जैसा मानता था। अंकिता ने आयुष से बोला कि वो नौकरी छोड़ना चाहती है। उसे कोई और नौकरी दिला दो। इसपर आयुष ने अपने पिता से बात की तथा फिर अंकिता की बात कराई। आयुष का घर रिजॉर्ट से बहुत अधिक दूर नहीं था। उसके पिता ने बोला कि ठीक है तुम हमारे घर पर एक कमरा लेकर रह लेना और मैं तुम्हें कहीं सुपरवाइजर की नौकरी दिला दूंगा।

अंकिता बस अब रिजॉर्ट से बाहर निकलना चाहती थी। 17 सितंबर को उसने पहली बार डिटेल में मुझसे चैट पर अपनी सारी बात बताई। 18 सितंबर को उसने रिजॉर्ट छोड़ने का निर्णय ले लिया था लेकिन तभी उसे पुलकित ने बोला कि 19 सितंबर को एक खास मेहमान रिजॉर्ट में आने वाले हैं। और वो कहीं नहीं जा रही। इसी के बाद 18 सितंबर को अंकिता तथा पुलकित के बीच बहुत झगड़ा हुआ और फिर मामला बढ़ता चला गया। बता दे कि पुलिस द्वारा मामले की जाँच निरंतर की जा रही है, आए दिन इस मामले में नए नए मोड़ आ रहे है।

दीनदयाल रसोई केंद्रों पर मिलेगा बाबा महाकालेश्वर अन्नक्षेत्र का प्रसाद

गंदगी से परेशान है रहवासी, कई बार कर चुके है शिकायत

भारत जोड़ो यात्रा: कर्नाटक में राहुल गांधी के आने से पहले फटे पोस्टर

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -