अमित शाह के बयान पर डॉ. तजीन फात्मा ने किया पलटवार, कही हैरान कर देने वाली बात

नई दिल्ली: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के जेम वाले बयान पर सांसद आजम खां की पत्नी और शहर विधायक डॉ. तजीन फात्मा ने निशाना साध दिया है। उन्होंने बोला है कि आजम खां का नाम जिन्ना के साथ जोड़ना सरासर गलत है। जबकि, आजम खां ने तो हमेशा जिन्ना की विचारधारा का विरोध किया है। वहीं, बीजेपी के लालकृष्ण आडवाणी ने पाक जाकर जिन्ना की मजार पर माथा टेका था। ऐसे में आजम खां किस तरह से जिन्ना की विचारधारा का समर्थन कर रहे है।

मिली जानकारी के अनुसार होम मिनिस्टर अमित शाह ने शनिवार को आजमगढ़ की जनसभा ने बोला था कि मोदी गवर्नमेंट JAM लेकर आई। लेकिन, सपा गवर्नमेंट जो JAM लेकर आई थी, उसमें जिन्ना, आजम खां और मुख्तार अंसारी का नाम भी शामिल है। सीतापुर जेल में बंद आजम खां की पत्नी डॉ. तजीन फात्मा ने अमित शाह के इस बयान पर निशाना साधते हुए बोला है कि यह अफसोस की बात है कि आजम खां जो एक सांसद भी हैं, उनका नाम जिन्ना के साथ होम मिनिस्टर ने जोड़ा। आजम खां हमेशा से ही एक मजबूत दृढ़ राष्ट्रवादी रहे हैं। उन्होंने हमेशा ही जिन्ना की विचारधारा का विरोध करना शुरू कर दिया है। उन्होंने कभी पाक का समर्थन नहीं किया और न ही पाक जाने जैसी बात कही।

एक ऐसा व्यक्ति जिसके मन में इतना प्रेम हो कि उन्होंने यहां शिक्षण संस्थानों को स्थापित किया गया था। जौहर विश्वविद्यालय को भी स्थापित किया गया था। उसका नाम जिन्ना के साथ जोड़ना गवर्नमेंट अन्याय है। डॉ. तजीन फात्मा ने बोला है कि समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह और SP अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कभी पाक जाकर जिन्ना की कब्र पर माथा नहीं टेका। जबकि, लालकृष्ण आडवाणी पाक गए, तो उन्होंने खासकर जिन्ना की कब्र पर जाकर अपना माथा टेका। ऐसे में आजम खां किस तरह से जिन्ना की विचारधारा के समर्थक बोले जा रहे है। जिन्ना की विचारधारा का न सिर्फ पार्टी, आजम खां, बल्कि हर हिन्दुस्तानी विरोध करता है। यह सब राजनीति से प्रेरित है।

अखिलेश ने अपमान किया लेकिन काम बहुत किया: शिवपाल यादव

गृह मंत्री अनिल विज का बड़ा बयान, कहा- "डेंगू मरीजों का मुफ्त इलाज..."

मायावती से मिलने पहुंचीं प्रियंका गांधी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -