भड़काऊ भाषण देने के मामले में इस शख्स को पुलिस ने मुंबई में दबोचा

भड़काऊ भाषण देने के मामले में इस शख्स को पुलिस ने मुंबई में दबोचा

भारत की संसद से पास होने के ​बाद से नागरिक संशोधन कानून के खिलाफ लगातार विरोध देखने को मिला है. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) में भड़काऊ भाषण देने वाले डॉ. कफील को स्पेशल टास्ट फोर्स (STF) ने मुंबई से दबोच लिया है. गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में बच्चों की मौत के बाद चर्चा में आए डॉ. कफील पर एएमयू की सभा में छात्रों को सांप्रदायिकता के नाम पर उकसाने के साथ ही गृहमंत्री के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी के आरोप हैं.

कोरोनावायरस को लेकर बड़ा खुलासा, इस जानवर को खाने और उसके सूप के सेवन से फैला वायरस

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि अलीगढ़ निवासी डॉ. कफील ने 12 दिसंबर को एएमयू में स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव के साथ सीएए के खिलाफ हो रही सभा में भाग लिया था. पुलिस द्वारा दर्ज मुकदमे के अनुसार कफील ने सभा में छात्रों की धार्मिक भावनाओं को भड़काने का प्रयास किया. यहां उन्होंने मोटा भाई शब्द का इस्तेमाल कर इशारों में गृहमंत्री के खिलाफ अशोभनीय टिप्पणी भी की.

Rahul Gandhi in Wayanad: राहुल करेंगे 'संविधान बचाओ मार्च' की अगुवाई

इस मामले में अलीगढ़ के सिविल लाइंस थाने में सभा के दौरान ड्यूटी पर तैनात एसआइ दानिश ने 13 दिसंबर 2019 को मुकदमा दर्ज कराया था. बताया गया है कि उसके बाद डॉ. कफील मुंबई भाग गया था, जिसे बुधवार देर शाम एसटीएफ ने मुंबई से गिरफ्तार कर लिया.डॉ. कफील इससे पहले गोरखपुर के बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज में हुई बच्चों की मौत के मामले में भी आरोपित और विवादित रहा है.

कासिम सुलेमानी को मारने की योजना बनाने वाले अमेरिकी अधिकारी की प्लेन क्रैश में मौत

केरल के राज्यपाल का बड़ा बयान, कहा- 'यह पैरा पॉलिसी के तहत नहीं है'...

जलनिगम भर्ती घोटाला का बड़ा खुलासा, आजम खां के खिलाफ चार्जशीट की तैयारी