उज्जैन: 110 दिन में 23 करोड़ से अधिक का आया बाबा महाकाल के लिए चढ़ावा

उज्जैन: उज्जैन के विश्व प्रसिद्ध महाकालेश्वर मंदिर में लॉकडाउन के बाद 28 जून 2021 से मंदिर का दरबार आम श्रद्धालुओं के लिए खोला गया था। वहीं अब सामने आने वाली खबरों के अनुसार इन 3 महीने 17 दिन के समय में देश भर से आने वाले श्रद्धालुओं  ने बाबा महाकाल के खजाने में 23 करोड रुपए से अधिक दान दे डाला है। बताया जा रहा है यह प्राप्त आय अलग-अलग माध्यम से हुई है और इसमें विदेशी करेंसी भी निकली है। बताया जा रहा है विदेशो से ऑनलाइन दान भी महकाल मंदिर को मिला है। आप सभी जानते ही होंगे कि महाकालेश्वर मंदिर में पूरी दुनिया से श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंचते हैं। ऐसे में इस बार कोरोना संक्रमण के चलते साल  2021 के कुछ महीनों के लिए श्रद्धालुओं का प्रवेश मंदिर में बंद कर दिया गया था। हालाँकि जब संक्रमण कम होने लगा तो मंदिर प्रबंध समिति ने निर्णय लिया और 28 जून को दोबारा आम दर्शनार्थियों के लिए, बाबा महाकाल का दरबार खोल दिया था। उसके बाद 11 सितंबर 2021 से आम श्रद्धालुओं के लिए भस्म आरती में प्रवेश शुरू हुआ। वहीं मंदिर में श्रद्धालु को प्रवेश देने और भस्म आरती में प्रवेश होने के बाद श्रद्धालुओं ने भी मुक्त हस्त से दान दिया है।

मिली जानकारी के तहत 28 जून 2021 से लेकर 15 अक्टूबर 2021 तक करीब 3 महीने 17 दिन में कुल 110 दिनों के दौरान भगवान महाकाल के खजाने में लड्डू प्रसाद, शीघ्र दर्शन टिकट, मंदिर परिसर में रखी विभिन्न भेंट पेटिया, अभिषेक, भेंट से प्राप्त राशि, भस्म आरती बुकिंग और अन्य विविध आय, ध्वजा और शृंगार के माध्यम से करीब 23 करोड 3 लाख 54 हजार 538 रूप, की आय हुई है।

किन स्रोतों से बाबा के खजाने में हुई आय-
1- लड्डू प्रसाद- 8 करोड़ 20 लाख 54 हजार 750 रुपए

2- शीघ्र दर्शन टिकट- 7 करोड 53 लाख 25 हजार 250 रुपए ,

3- भेंट पेटी से आय-  5 करोड़ 66 लाख 12 हजार 384 रुपए ,

4- अभिषेक एवं भेंट से प्राप्त राशि- 92 लाख 130 रुपए

5- भस्म आरती बुकिंग  से आय- 34 लाख 70 हजार 180 रुपए ,

6- अन्य विविध आय- 28 लाख 77 हजार 28 रुपए

7- अन्न क्षेत्र भेंट आय- 5 लाख 87 हजार 116 रुपए

8- ध्वजा एवं बुकिंग से आय- 2 लाख 27 हजार 700 रुपए

कुल आय- 23,03,54,538 (23 करोड़ 3 लाख 54 हजार 538 रुपए) है।

आपको बता दें कि यहाँ भस्म आरती में एक दिन में 1000 हजार श्रद्धालुओं को अनुमिति मिल रही है। इस लिस्ट मे ऑनलाइन परमिशन वाले श्रद्धालु को 100 रुपए और ऑफ लाइन परमिशन वाले श्रद्धालु को 200 रुपए शुल्क दान के रूप में लग रहा है।

उज्जैन: GAIL गैस प्लांट में हुआ बड़ा हादसा, 2 मजदूरों की मौत

MP: सांसद प्रज्ञा ठाकुर एक राक्षसी प्रवृत्ति की महिला हैं: कांग्रेस विधायक

जल्द ही लॉन्च होगी इलेक्ट्रिक फीचर्स वाली BMW 3, जानिए और क्या होगी खासियत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -