इन सावधानियों से बचा जा सकता है शनि के प्रकोप से

शास्त्रों में शनि, राहु और केतु को क्रूर ग्रह कहा जाता है जिनके प्रभाव से कोई बच नहीं सकता, यहाँ तक की देवता भी नहीं . सूर्य पुत्र शनि के प्रकोप को काम करने आपको अपने दैनिक जीवन में कभी भी किसी के साथ छल-कपट और द्वेष की भावना को पनपने नहीं देना होता है . यदि आपने कभी ऐसा किया तो इससे आपको शनिदेव  के क्रोध का सामना करना पड़ सकता है. आज हम आपको शनिदेवता को खुश रखने के टोटके बताने से पहले कुछ सावधानियां बताने वाले है जिनके प्रयोग से आप उनके क्रोध से बच सकते है. 

सावधानियां :
1. अपने दांत हमेशा साफ रखिए.
2. झूठी गवाही देने से बचिए.
3. श‍राब पीते हो तो उसका सेवन बंद कर दें.
4. जुआ, सट्टा तथा ब्याज का धंधा नहीं करना चाहिए.
5. पिता और पुत्र का कभी अनादर ना करना चाहिए.
6. अपने जीवनसाथी के प्रति सदैव वफादार रहना चाहिए.
7. अधर्म और नास्तिकता के विचारों से दूर रहना चाहिए.
8. हमेशा सिर ढक कर ही मंदिर में प्रवेश करना चाहिए.

उपाय : भैरव बाबा को शराब का भोग लगाना चाहिए. शनिवार को तिल, उड़द, लोहा, तेल, काला वस्त्र और जूता आदि किसी भी जरुरतमंद को दान में देना चाहिए. नियमितरूप से प्रतिदिन हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए. बूढ़े, अपांग, बेसहारा और लाचार लोगो की मदद करनी चाहिए. कौवे को प्रतिदिन रोटी खिलाना आदि से भी भगवान शनि प्रसन्न होते हैं.

जानिए आपके लिए क्या खास लेकर आया है आज का दिन

हिन्दूधर्म में रामचरित मानस की महत्ता के बारे में जानिए

इस तरह की उँगलियों वाली लड़की से शादी करने से बनती है किस्मत

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -