चीन पर भड़के ट्रम्प, कहा- कोरोना को रोक सकता था चायना, इतनी मौतें ना होती

वाशिंग्टन: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को लेकर दुनिया के दो सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका और चीन आमने-सामने हैं. हालात इतने बिगड़ गए हैं कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प लगातार चीन को खुले शब्दों में चेतावनी दे रहे हैं. डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को व्हाइट हाउस में प्रेस वालों से बात करते हुए कहा कि चीन कोरोना वायरस को फैलने से रोक सकता था. हम जांच कर रहे हैं और आपको सही समय पर बताएंगे.

डोनाल्ड ट्रम्प ने चीन पर हमला बोलते हुए कहा कि ऐसे कई तरीके हैं जिनसे आप चीन को जवाबदेह बना सकते हैं. हम बहुत गंभीर जांच कर रहे हैं, जैसा कि आप शायद जानते हैं, और हम चीन से खुश नहीं हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति ने आगे कहा कि हम पूरी स्थिति से खुश नहीं हैं, क्योंकि हमारा मानना ​​है कि कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता था. यह पूरी दुनिया में नहीं फैलता.

उन्होंने कहा कि इस दिशा में हमारी गंभीर जांच चल रही हैं और इस सम्बन्ध में हम आपको वक़्त आने पर बताएंगे. ट्रंप ने कहा कि हमारे देश में इतनी अनावश्यक मौतें हुई हैं. इसे रोका जा सकता था. आज पूरी दुनिया इससे जूझ रही है. कम से कम 184 देश कोरोना की गिरफ्त में हैं. आपको बता दें कि चीन से पैदा हुए कोरोना वायरस महामारी को लेकर दोनों देशों के नेताओं के बीच तीखी बयानबाजी चल रही है.

कोरोना संकट के बीच WHO ने दी एक और चेतावनी, इन बीमारियों से रहे सचेत

अमरीका ने साधा चीन पर निशाना, बोला- घटिया सामान बेच लाभ कमा रहा ड्रैगन

आखिर क्यों हांगकांग पर चीन ने दिया सीमा खोलने का दबाव

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -