किसने की थी जासूसी, पता लगाए न्याय विभाग- ट्रम्प

वाशिंगटन: 2016 में हुए अमेरिकी चुनाव से एक विवाद और जुड़ गया है, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चुनाव के दौरान उनकी टीम की जासूसी की जाने का शक जताया है. उन्होंने अमेरिका के न्याय विभाग को आदेश दिया है कि वह पता लगाए कि क्या ओबामा प्रशासन के आदेश पर एफबीआइ ने अनुचित मकसद से उनकी चुनाव अभियान टीम की जासूसी की थी ?

इसके लिए ट्रम्प ने एक ट्वीट भी किया है जिसमे उन्होंने लिखा है कि 'मैंने मांग की है कि न्याय विभाग यह जांच करे कि उनकी चुनाव टीम की उसने या एफबीआइ ने क्या किसी राजनीतिक मकसद से निगरानी की थी? यह भी पता लगाए कि क्या ओबामा प्रशासन की ओर से इस तरह का कोई आदेश दिया गया था. " अभी कुछ दिन पहले खबर आई थी कि  रूस के साथ ट्रंप टीम की साठगांठ के बारे में जानकारी जुटाने के लिए एफबीआइ ने एक विश्वस्त सूत्र को तैनात किया था.

अमेरिका के डिप्टी अटार्नी जनरल रॉड रोसेंस्टेन ने कहा, 'राष्ट्रपति चुनाव प्रचार टीम में अगर किसी ने अनुचित मकसद से घुसपैठ या निगरानी की थी तो हम उचित कार्रवाई करेंगे'. बता दें कि 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में रूस और ट्रंप टीम के बीच साठगांठ के आरोप लगाए गए थे, विशेष वकील रॉबर्ट मुलर इस मामले की पहले से ही जांच कर रहे हैं, वह ट्रंप प्रशासन और उनके कई करीबियों से पूछताछ भी कर चुके हैं. 

न्यूयॉर्क पुलिस में पगड़ीधारी महिला अधिकारी शामिल हुई

ख़त्म होगा अमेरिका-चीन के बीच ट्रेड वॉर

ट्रम्प ने की संयुक्त राष्ट्र के महासचिव की तारीफ़

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -