अमेरिका में न मिले मुस्लिमों को प्रवेश

वाॅशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति पद के चुनाव में इन दिनों मुस्लिमों को अमेरिका में प्रवेश दिए और न दिए जाने की बहस छिड़ गई है. जहां रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप ने मुस्लिमों को अमेरिका में प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया. इसके बाद प्रवासियों को देश से बाहर निकालने का रूख भी दोहराया. मगर इस मामले में उनकी विपक्षी और चुनाव में उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन ने प्रचार अभियान को लेकर डोनाल्ड ट्रंप की आलोचना की।

पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने कहा कि ट्रंप की इस तरह की नीति से अमेरिका में भेदभाव और विभाजनकारी विचार फैल सकते हैं, उनका कहना था कि वे आतंकवाद के विरूद्ध लड़ाई लड़ने में मुस्लिम देशों के साथ मिलकर कार्य कर सकते हैं।

इस मामले में ट्रंप ने एक चैनल को साक्षात्कार देते हुए कहा कि उन्हें यही सही लगा और फिर भले ही इससे उन्हें वोटों का नुकसान भी हो तो भी वे इसकी परवाह नहीं करेंगे क्योंकि यह देश हित में हें उनका कहना था कि भले ही किसी भी धर्म के अनुयायी हों यदि  देश में समस्या आती है तो फिर इस तरह के कदम उठाए जाने चाहिए. उन्होंने हिलेरी के प्रचार अभियान को लेकर भी आलोचना की। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -