ट्रम्प प्रशासन का बड़ा फैसला, भारत को लग सकता है करारा झटका

Apr 23 2019 05:20 PM
ट्रम्प प्रशासन का बड़ा फैसला, भारत को लग सकता है करारा झटका

वॉशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को ईरान से तेल की खरीद वाले किसी भी देश को बैन में छूट नहीं देने का निर्णय लिया है. ईरान पर दबाव बढ़ाने और उसके शीर्ष कारोबारी उत्पाद की बिक्री पर अंकुश लगाने के इरादे से ट्रंप के इस निर्णय का भारत की ऊर्जा सुरक्षा पर बड़ा असर पड़ सकता है. व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कहा है कि, ‘‘राष्ट्रपति डोनाल्ड जे. ट्रंप ने मई की शुरुआत में समाप्त हो रही छूट से संबंधित ‘सिग्निफिकेंट रिडक्शन एक्सेप्शंस’ (एसआरई) को वापस जारी नहीं करने का निर्णय लिया है.

इस फैसले का मकसद ईरान के तेल निर्यात को शून्य तक लाना है और वहां के शासन के राजस्व के मुख्य स्रोत को समाप्त करना है.’’ ईरान के साथ 2015 में हुए ऐतिहासिक परमाणु समझौते से अलग होते हुए अमेरिका ने गत वर्ष नवंबर में ईरान पर फिर से प्रतिबंध लगा दिया था. अमेरिका के इस कदम को राष्ट्रपति ट्रंप प्रशासन के ईरान पर ‘‘अधिकतम दबाव’’ के रूप में देखा जा रहा है.

गत वर्ष अमेरिका ने भारत, चीन, तुर्की और जापान सहित ईरान से तेल खरीदने वाले आठ देशों को 180 दिन की अस्थायी छूट प्रदान की थी. इस फैसले के तहत भारत सहित सभी देशों को दो मई तक ईरान से अपना तेल का आयात बंद करना होगा. यूनान, इटली, जापान, दक्षिण कोरिया और ताइवान पहले ही ईरान से अपना तेल निर्यात बेहद कम या फिर बंद कर चुके हैं.

खबरें और भी:-

जर्मनी-जापान वाले बयान पर ट्रोल हुए इमरान खान, लोगों ने जमकर की खिंचाई

श्रीलंका बम धमाकों में मरने वाले भारतीयों की संख्या बढ़कर 10 हुई

विश्व कप के लिए अफगानिस्तान ने किया 15 सदस्यीय टीम का एलान