मतलब ओबामा के कहने पर की गई ट्रंप की जासूसी

अमेरिका: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, "मैं इस बात की जांच की मांग करूंगा कि कहीं राजनीतिक कारणों से ट्रंप चुनाव प्रचार अभियान की जासूसी तो नहीं की गई थी. क्या इस कदम के पीछे ओबामा प्रशासन का आदेश तो नहीं था."

 

बता दें कि ट्रम्प के दबाव के चलते न्याय विभाग ने महानिरीक्षक से आकलन करने को कहा है कि क्या राजनीतिक कारणों से ट्रंप के प्रचार अभियान की जासूसी तो नहीं कराई गई थी. इस मामले में ट्रंप के ट्वीट के कुछ घंटों बाद न्याय विभाग ने कहा कि उन्होंने महानिरीक्षक को ट्रंप के चुनाव अभियान के एक पूर्व सलाहकार की जांच करने को कहा है कि कहीं एफबीआई ने जासूसी तो नहीं की थी. साथ ही आगे न्याय विभाग ने कहा कि यदि इसमें किसी तरह के आपराधिक आचरण के साक्ष्य पाए गए तो यूएस अटॉर्नी से सलाह ली जाएगी.

गौरतलब है कि वहीं दूसरी ओर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 2016 के अमेरिकी चुनाव में रुसी दखल के आरोपों की रॉबर्ट मूलर द्वारा जांच को परेशान करने वाला दुनिया का सबसे महंगा अभियान बताया गया है. ट्रंप ने कहा कि मूलर को अपनी जांच में मिलीभगत या न्याय में बाधा का कोई सबूत नहीं मिलने के बाद दुनिया में आए अन्य कथित सनसनीखेज खुलासों की ओर जा रहे है.

World Environment Day: खाना बर्बाद करने से पड़ रहा है प्राकृतिक संसाधनों पर दबाव

भारत के खिलाफ पाकिस्तान विश्व बैंक की शरण में

पहला तैरता परमाणु ऊर्जा संयंत्र रूस ने बनाया

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -