चिकित्सकों को रास नहीं आया PM मोदी का फैसला

May 28 2016 02:37 PM
चिकित्सकों को रास नहीं आया PM मोदी का फैसला

चेन्नई ​: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूं तो सरकारी क्षेत्र के चिकित्सकों के लिए सेवानिवृत्ति की आयु सीमा 58 वर्ष स बढ़ाकर 65 वर्ष कर दी। मगर सरकारी चिकित्सक तमिलनाडु के नीति निर्माताओं द्वारा कहा गया कि सरकार चिकित्सकों को 58 वर्ष में सेवानिवृत्त होने की अनुमति दे देगी।

दरअसल विशेष परिस्थितियों में कुछ वरिष्ठ चिकित्सकों की विशेषतौर पर सर्जन और हेड ऑफ डिपार्टमेंट की सेवा रिटायरमेंट के कुछ वर्षों के लिए बढ़ा दी जाएगी। स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि देश में 10 लाख चिकित्सकों में से 1लाख सरकार चिकित्सक रहे हैं।

प्रतिवर्ष 5 हजार से अधिक चिकित्सक मेडिकल महाविद्यालयों के पास हैं। जिसके कारण सरकारी पोस्ट हेतु चिकित्सकों में प्रतिस्पर्धा होती है। यही नहीं चिकित्सकों की सीटें खाली नहीं हैं। उनके पदों पर कोई न कोई आसीन जरूर हैं। ऐसे में इतना लंबा सेवा काल बढ़ाना आवश्यक नहीं है।