14 मार्च से शुरू हो चुका है खरमास, धनवान बनने के लिए करें यह उपाय

खरमास का महीना आरम्भ हो चुका है। आप सभी जानते ही होंगे कि इस महीने में किसी भी तरह का कोई शुभ काम नहीं किया जाता है। जी दरअसल हिंदू धर्म में जैसे श्राद्ध, चतुर्मास में शुभ कार्य नहीं किये जाते हैं ठीक वैसे ही खरमास में भी मांगलिक कार्य नहीं होते है। आप सभी को बता दें कि खरमास को मलमास के नाम से भी पुकारा जाता है। जी दरअसल खरमास का अपना ही एक अलग और विशेष महत्व है। इस महीने में जप- तप और दान पुण्य किया जाता है क्योंकि यह बहुत महत्वपूर्ण है। वैसे ज्योतिष शास्त्रों को माने तो इस महीने में कई उपाय किये जा सकते हैं जिन्हे करने से सुख- समृद्धि आती है और भगवान का आशार्वाद मिलता है। आज हम आपको उन्ही उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं। आइए जानते हैं।

1. ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार, इस महीने में भगवान विष्णु, माता लक्ष्मी और सूर्यदेव की उपासना करने से जीवन में सुख- समृद्धि आती है। 

2. कहते हैं खरमास में तुलसी की पूजा करना से लाभ मिलता है। इन दिनों में शाम के समय में तुलसी के पेड़ के सामने घी का दीपक जलाना चाहिए।

3. कहा जाता है खरमास में कुंभ स्नान और तीर्थ स्थल के दर्शन करना चाहिए। इसी के साथ घर में भागवत गीता का पाठ करना चाहिए क्योंकि इससे घर में सकारात्मकता रहती है।

4. कहते हैं आर्थिक संकट को दूर करने के लिए खरमास में पीपल की पूजा करना शुभ होता है। खरमास में सुबह- शाम पीपल के पेड़ में दीपक जलाया जाए तो भगवान प्रसन्न होते है। 

5. कहते हैं खरमास में हर रोज शालिग्राम भगवान को पंचामृत से अभिषेक करना चाहिए क्योंकि इससे जीवन में शुभ फलों की प्राप्ति होती है।

कब से शुरू हो रहा है खरमास- आप सभी को बता दें कि खरमास 14 मार्च से 14 अप्रैल तक के लिए लग चुका है। इस खरमास को ही सूर्य की मीन संक्रांति भी कहते हैं। जिस दौरान सूर्य, मीन राशि से निकलकर मेष राशि में आते हैं उस दौरान खरमास खत्म हो जाता है।

JNU देशद्रोह केस: पटियाला हाउस कोर्ट में पेश हुए कन्हैया कुमार, 7 अप्रैल को चार्जशीट की स्क्रूटनी

असम जाने से पहले बोले शिवराज सिंह चौहान- 'कांग्रेस ने असम को बर्बाद कर दिया था'

Video: लावणी डांस कर पुणे के इस ऑटो ड्राइवर ने जीता लोगों का दिल, मिला मराठी फिल्म का ऑफर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -