अच्छे जीवन साथी के लिए अब न हो परेशान

यदि आप अपने विवाह, शादी को लेकर परेशान हैं तो अब आपकी चिंता का समाधान आपके सामने है। जी हां, केवल पांच गुरूवार का व्रत और देव गुरू बृहस्पति का पूजन आपको अच्छा जीवन साथी दिलवा सकता है। जी हां, व्रत करने के साथ ही आपको इस व्रत में पीले गुरूवार की कुछ बातें करनी होंगी। पांच गुरूवार की यह आराधना आपके हाथ पीले कर देगी। जी हां, इसके लिए आपको देव गुरू बृहस्पति की शरण में जाना होगा।

देव गुरू बृहस्पति साक्षात् शिव स्वरूप हैं और वे देवताओं के गुरू माने जाते हैं। यदि आप इन्हें साध लेंगे तो सारे देव सध जाऐंगे। इसके लिए आपको विधिवत व्रत करना होगा। दरअसल पांच गुरूवार को निमित और लगातार व्रत करने से आपको योग्य जीवन साथी मिल जाएगा। इसके लिए आप गुरूवार को प्रातः काल उठिए। 

स्नान कीजिए और पीले परिधान पहनकर पूजन कीजिए। पूजन के लिए अक्षत और कुमकुम के साथ एक कलश स्थापित कीजिए। यदि देवगुरू बृहस्पति का फोटो मिल जाए तो उत्तर नहीं तो उनका ध्यान कर पूजन कीजिए। इसके बाद भोग प्रसादी चढ़ाईए। इसके बाद यदि संभव हो तो बृहस्पति मंदिर जाकर उनका पूजन कीजिए।

वैसे तो मध्यप्रदेश के उज्जैन शहर में देव गुरू बृहस्पति का अति प्राचीन मंदिर गोलामंडी में प्रतिष्ठापि है। जहां आप भगवान बृहस्पति को पूज कर उनसे शीघ्र विवाह का वरदान ले सकते हैं। यहां देवगुरू शिलिंग स्वरूप में प्रतिष्ठापित हैं। देवगुरू के इस शिविलंग पर जल अर्पित करें। 

हल्दी की गांठ समर्पित करें। तुअर की या पीली दाल भी उन्हें समर्पित करें और यदि हो सके तो पीला कपड़ा या वस्त्र  व साथ में पांच बेसन के लड्डू मंदिर में चढ़ाऐं। लगातार पांच गुरूवार श्रद्धापूर्वक करने पर आपको पति या पत्नी की प्राप्ति होती है। यही नहीं इस व्रत को एकासना स्वरूप में किया जा सकता है। ऐसे में मंदिर में दर्शन करने के बाद आप पूजन - अर्चन कर और देव गुरू का स्मरण कर अपना व्रत पूर्ण कर सकते हैं और भोजन कर सकते हैं। 

 

 

व्यक्ति को किताबी ज्ञान के अलावा समाजिक व भौतिक ज्ञान होना अति आवश्यक है

वास्तु संबंधित ये छोटी-छोटी बातें बड़े काम की होती है

मनुष्य के बोल ही उसे ऊपर उठाते है

जब ईश्वर ने लिखा अपने भक्त को पत्र

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -