भूलकर भी ना बनाए इन दिनों में संबंध वरना आने वाली संतान होगी दुर्बल

Sep 20 2019 04:00 PM
भूलकर भी ना बनाए इन दिनों में संबंध वरना आने वाली संतान होगी दुर्बल

कहा जाता है लड़की के रजोकाल के चार दिन, अष्टमी तिथि, चतुर्दशी, अमावस्या, पूर्णिमा और संक्रांति तिथि के दिन सहवास करने से बचना चाहिए. जी हाँ और इनके अतिरिक्त महारात्रियों जैसे शिवरात्रि, दीपावली, होली, नवरात्रि के दिनों में भी इनसे बचना चाहिए क्योंकि इन्हे गलत माना जाता है. वहीं शास्त्रों में ऐसा धार्मिक दृष्टि से ही नहीं, बल्कि वैज्ञानिक दृष्टि से भी बताया जा चुका है.

तो आज हम आपको बताए जा रहे हैं कि किन दिनों में संबंध बनाने से बचना चाहिए. जी दरअसल विज्ञान के अनुसार पूर्णिमा, अमावस्या तथा चतुर्दशी के दिन चन्द्रमा, सूर्य और पृथ्वी एक ही सीधी रेखा में होते हैं और इस कारण से इनका सम्मिलित आकर्षण अन्य दिनों से ज्यादा होता है. वहीं इसका प्रभाव मानव शरीर पर पड़ता है और इससे शरीर में जलतत्व रूप में मौजूद रक्त, रस और प्राण अपने स्वाभाविक गति में नहीं होते हैं.

इसी के साथ कहा जाता है अष्टमी तिथि को भी सूर्य और चन्द्र समकोण की स्थिति में होते हैं और इससे चन्द्रमा की आकर्षण शक्ति स्वाभाविक स्तर से कम हो जाती हैं. इसी के साथ इन स्थितियों में सहवास से गर्भधारण होने पर पैदा हुई संतान दुर्बल और अल्पायु तक हो सकती है इस कारण इस दौरान सहवास करने से बचे.

क्या आप जानते हैं श्री रामचरित मानस से जुड़ा यह अनोखा राज

मंत्र उच्चारण कर देते हैं भगवान को पुष्पांजलि, जानें खास विधि

21 सितंबर को है कालाष्टमी व्रत, ऐसे करें पूजन