पंजाब: CM कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किसानों को दी यह सलाह

चंडीगढ़: किसान आंदोलन और उनकी मांगों का अब तक समर्थन करते आ रहे पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अब अपने मिजाज बदल लिए हैं। जी हाँ, बीते सोमवार को वह होशियारपुर जिले में एक कार्यक्रम में शामिल हुए। यहाँ उन्होंने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए किसानों से अपील करते हुए कहा कि, 'यदि उन्हें आंदोलन ही करना है तो पंजाब की बजाय दिल्ली और हरियाणा में जाएं।' इस दौरान सम्बोधन देते हुए CM ने कहा, 'इसके चलते राज्य को आर्थिक नुकसान हो रहा है और यदि प्रदर्शन करना ही है तो वे पंजाब की बजाय दिल्ली और हरियाणा जाएं।' जी दरअसल CM होशियारपुर के मुखिलाना में एक सरकारी कॉलेज का शिलान्यास करने के लिए पहुंचे थे और यहीं उन्होंने यह बात कही।

उन्होंने आगे अपने सम्बोधन में कहा, 'राज्य में 113 स्थानों पर किसानों का आंदोलन चल रहा है और इन आंदोलनों के चलते राज्य की आर्थिक स्थिति पर असर पड़ रहा है।' इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि, 'यदि किसानों को धरना देना है तो उन्हें पंजाब की बजाय हरियाणा और दिल्ली चले जाना चाहिए।' इसी के साथ ही नए कृषि कानूनों को लेकर उन्होंने शिरोमणि अकाली दल पर हमला बोला। उन्होंने कहा, 'बादल परिवार अब इनके खिलाफ बात कर रहा है, लेकिन जब बिलों को तैयार किया जा रहा था तो उसमें शिरोमणि अकाली दल की भी सहमति थी। हरसिमरत कौर बादल केंद्रीय मंत्री थीं और खुद प्रकाश सिंह बादल नए कानूनों के समर्थन में थे। लेकिन उनका रवैया तब बदला, जब खुद किसान इसके विरोध में उतर आए।'

वहीँ केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा, 'अब तक 127 बार संविधान में संशोधन किया जा चुका है। ऐसे में किसानों के हितों के लिए एक बार फिर से ऐसा क्यों नहीं किया जा सकता। हमने किसान आंदोलन के दौरान मौत का शिकार हुए हर किसान के परिवार को 5 लाख रुपये की राहत राशि और एक नौकरी देने का काम किया है।'

UN की बेस्ट विलेज लिस्ट में भारत के 3 गाँव शामिल, जानिए किन राज्यों में आते हैं ये गाँव

बड़ी खबर इस सप्ताह भारत बायोटेक की वैक्सीन Covaxin को WHO से मिल सकती है मंज़ूरी

मामूली बात पर हुआ विवाद, सास ने बहु को कुल्हाड़ी से काट डाला

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -