गाना बजाएगा डीजे वाला बाबू तो नहीं निकलेगी बारात

Jan 04 2016 12:28 PM
गाना बजाएगा डीजे वाला बाबू तो नहीं निकलेगी बारात

फरीदाबाद : अभी तक तो लड़कियों को डीजे वाले बाबू मेरा गाना बजा दो, गीत गाते हुए सुना गया होगा मगर अब डीजे बजाने पर बारात नहीं निकलेगी। जी हां, आपको यह बेहद आश्चर्यजनक लग रहा होगा। मगर अब गुड़गांव में ऐसे ही नज़ारे दिखाई देंगे। तिगांव की पंचायत में शादियों में डीजे बजाने पर प्रतिबंध लगाया जाएगा। तिगांव में गुर्जर समुदाय की महापंचायत में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। जिसमें कहा गया कि बेटियों की विदाई के समय दहेज की सूची नहीं पढ़ी जाएगी।

यही नहीं शादी के समारोह में डीजे नहीं बजाया जाएगा। विवाह की रस्म में शराब नहीं परोसी जाएगी। यदि शराब का सेवन वैवाहिक आयोजन में किया गया तो सामाजिक बहिष्कार तक कर दिया जाएगा। पंचायत ने समाज के लोगों के लिए यह नियम भी अनिवार्य कर दिया है जिससे बारात में फिजूलखर्ची बचेगी। इसके अंतर्गत बारात में 100 बारातियों से अधिक लोगों को नहीं ले जाया जा सकेगा। यही नहीं भात न्योतने, भात देने और लगन सगाई में 21 लोगों से अधिक लोगों को शामिल किए जाने की अनुमति नहीं होगी। 

वैवाहिक आयोजनों में दहेज की सूची पढ़कर नहीं सुनाई जाएगी। दहेज के सामान का प्रदर्शन भी बारात के सामने नहीं होगा। नियमों का उल्लंघन करने पर लोगों का सामाजिक बहिष्कार तक किया जाएगा। इसका सबसे बड़ा लाभ मध्यम और निम्न परिवारों को मिलेगा। पंचायत के लोगों को इस तरह का निर्णय लेने के लिए राजी कर लिया गया है। दरअसल लंबे समय से मांग की जा रही थी कि समाज में इस तरह के नियमों को लागू किया जाए।