धुंधली दिखाई देने लगी हैं दूर की चीजें तो आज से ही करें ये 6 काम, आंखों से हट जाएगा चश्मा

धुंधली दिखाई देने लगी हैं दूर की चीजें तो आज से ही करें ये 6 काम, आंखों से हट जाएगा चश्मा
Share:

हाल के दिनों में, आँखों की समस्याएँ बहुत आम हो गई हैं। अगर आप अपने आस-पास देखें, तो ऐसा लगता है कि हर तीसरा व्यक्ति चश्मा पहनता है। कम होती हुई आँखों की रोशनी के लिए आनुवंशिकी, खराब आहार और जीवनशैली जैसे कई कारण जिम्मेदार हो सकते हैं। इसलिए, सवाल उठता है: हम आँखों की रोशनी कैसे सुधार सकते हैं या चश्मे पर निर्भरता कैसे कम कर सकते हैं?

आँखों की रोशनी बढ़ाने और कमज़ोर होती दृष्टि को रोकने के कई प्राकृतिक तरीके हैं। विटामिन ए, सी, ई, ज़िंक और एंटीऑक्सीडेंट जैसे कुछ पोषक तत्व आँखों के स्वास्थ्य को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। अपने आहार में इन पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थों को शामिल करने से काफ़ी मदद मिल सकती है। यहाँ कुछ प्रभावी घरेलू उपचार और सुझाव दिए गए हैं जिन्हें आप अपनी आँखों की रोशनी को बेहतर बनाने और बनाए रखने के लिए आज़मा सकते हैं:

1. आँखों के लिए ज़रूरी खाद्य पदार्थ:
कुछ खाद्य पदार्थ अपनी पोषक तत्वों की वजह से आँखों के स्वास्थ्य के लिए फ़ायदेमंद माने जाते हैं। गाजर, शिमला मिर्च, ब्रोकली, स्ट्रॉबेरी, शकरकंद, पालक, खट्टे फल, अलसी, अखरोट और बादाम आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए बेहतरीन माने जाते हैं। इन्हें अपने दैनिक आहार में शामिल करने से बेहतर दृष्टि को बढ़ावा मिल सकता है।

2. कैरोटीनॉयड: 
ल्यूटिन और ज़ेक्सैंथिन रेटिना में पाए जाने वाले दो महत्वपूर्ण कैरोटीनॉयड हैं। अपने आहार में ब्रोकली, भिंडी और अंडे जैसी हरी पत्तेदार सब्ज़ियाँ शामिल करने से आपकी आँखों की रोशनी स्वाभाविक रूप से बढ़ सकती है। 

3. योग का अभ्यास करें: 
योग आँखों के आस-पास रक्त संचार बढ़ाकर आँखों की रोशनी बढ़ाने के प्राकृतिक तरीके प्रदान करता है, जो आँखों की मांसपेशियों को पोषण देता है और उन्हें सक्रिय रखता है। हलासन, बालासन, पादहस्तासन और शीर्षासन जैसे आसन आँखों के स्वास्थ्य के लिए लाभकारी माने जाते हैं।

4. धूम्रपान से बचें: 
धूम्रपान ऑप्टिक तंत्रिकाओं को नुकसान पहुँचा सकता है और संवेदनशीलता को कम कर सकता है, जिससे यह मोतियाबिंद जैसी स्थितियों का एक सामान्य कारण बन जाता है। यदि आप धूम्रपान करते हैं, तो धूम्रपान छोड़ने से आपकी आँखों के स्वास्थ्य में काफ़ी सुधार हो सकता है। 

5. अपनी आँखों के लिए पर्याप्त नींद और आराम लें: 
आँखों के स्वास्थ्य सहित समग्र स्वास्थ्य के लिए पर्याप्त नींद ज़रूरी है। स्क्रीन पर काम करते समय समय-समय पर अपनी आँखों को आराम देना भी अच्छी दृष्टि बनाए रखने में मदद कर सकता है। 

6. आयुर्वेदिक उपचार: 
आयुर्वेद में कई हर्बल उपचार दिए गए हैं जो आंखों की रोशनी बढ़ाने में मदद कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, त्रिफला को आंखों के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना जाता है और इसे आंखों को धोने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है या किसी विशेषज्ञ के मार्गदर्शन में इसका सेवन किया जा सकता है। 

इन सुझावों को अपनी दिनचर्या में शामिल करने से आपकी आंखों की रोशनी को प्राकृतिक रूप से बनाए रखने या बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है। याद रखें, नियमित रूप से आंखों की जांच और किसी नेत्र विशेषज्ञ से परामर्श करना भी किसी भी अंतर्निहित समस्या का जल्द पता लगाने के लिए महत्वपूर्ण है। आंखों की देखभाल के लिए सक्रिय कदम उठाने से आने वाले वर्षों के लिए आपकी दृष्टि को बनाए रखने में काफी मदद मिल सकती है।

कद्दू के बीजों का करें ऐसे इस्तेमाल, हेयर फॉल से मिलेगा निजात

NHM महाराष्ट्र स्टाफ नर्स और MPW भर्ती 2024: 93 पदों के लिए आवेदन करें

कार में बैठते ही तुरंत ऑन न करें AC, वरना बढ़ जाएगी दिक्कतें

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -