छात्रवृत्ति घोटाला: ईडी ने दर्ज कर दी है ईसीआईआर, अब से होगी नियमित जांच

Feb 07 2020 03:34 PM
छात्रवृत्ति घोटाला: ईडी ने दर्ज कर दी है ईसीआईआर, अब से होगी नियमित जांच

250 करोड़ के बहुचर्चित छात्रवृत्ति घोटाले की जांच के लिए प्रवर्तन निदेशालय ने प्रवर्तन केस सूचना रिपोर्ट (ईसीआईआर) दर्ज कर नियमित जांच शुरू कर दी गयी है।वही इसके साथ ही मामले में फंसे शैक्षणिक संस्थानों से घोटाले से संबंधित दस्तावेज मांग लिए हैं। इसके अलावा अभी तक ईडी सीबीआई की जांच में सामने आ रहे तथ्यों में से मनी लांड्रिंग के नजरिये से जांच कर रहा था। वही शुरूआती जांच में ईडी को धन शोधन के ठोस सबूत मिले, जिसके बाद उसने मामले में रिपोर्ट दर्ज कर नियमित जांच शुरू कर दी है। वही अब ईडी बैंकों, शैक्षणिक संस्थानों, सीबीआई, शिक्षा विभाग और मामले के आरोपियों से भी धन शोधन के लिहाज से जरूरी सभी दस्तावेज मांग सकता है ।

सूत्रों का कहना है कि रिपोर्ट दर्ज कर नियमित जांच के बाद मामले में शामिल आरोपियों की मुश्किलें दोगुनी हो जाएंगी। असल में , सीबीआई की अभी तक की जांच में पकड़े गए अधीक्षक अरविंद राजटा और उसकी पत्नी के घपले में सीधे तौर पर शामिल होने और आय से अधिक संपत्ति होने की भी आशंका है।वही  एक शैक्षणिक संस्थान के वाइस चेयरमैन हितेश गांधी के पास भी अकूत संपत्ति होने की आशंका है। ईडी यह देखना चाह रहा है कि चूंकि सीबीआई घोटाले में उनकी भूमिका को अहम मान रही है, ऐसे में घपले से कमाई गई काली कमाई को कहां खपाया गया और कौन से व कितनी चल अचल संपत्तियां भी खड़ी की गई हैं। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जल्द ही ईडी मामले में कुछ संपत्तियों को भी अटैच करने की कार्रवाई कर सकती है। वही  उल्लेखनीय है कि प्रदेश सरकार की सिफारिश पर सीबीआई छात्रवृत्ति घोटाले की जांच कर रही है। ऐसे में जांच एजेंसी ने 7 मई 2019 को मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर दो दर्जन संस्थानों पर छापा मारा था। वही इसके बाद इसी साल 3 जनवरी को जांच अधिकारियों ने हिमाचल शिक्षा विभाग के अधीक्षक अरविंद राजटा, निजी शिक्षण संस्थान के उपाध्यक्ष हितेश गांधी व सेंट्रल बैंक आफ इंडिया के हेड कैशियर एसपी सिंह को भी गिरफ्तार किया है। ऐसा माना जा रहा है कि जल्द ही सीबीआई मामले में कई और लोगों की गिरफ्तारी कर सकती है।

सबरीमाला : इस सेवानिवृत्त जज को मिली देवताओं के आभूषणों की सूची तैयार करने की जिम्मेदारी

निर्भया केसः इस दिन होगी दोषियों की अलग-अलग फांसी पर सुनवाई

कश्मीर मुद्दे पर मुस्लिम देशों से समर्थन मांग-मांगकर थका पाकिस्तान, किसी ने नहीं दी तवज्जो