'सच्चाई का मुंह बंद करने के लिए डिप्लोमेसी का हुआ इस्तेमाल', आखिर क्यों ऐसा बोली महबूबा?

जम्मू: इजरायल के फिल्मनिर्माता नदव लैपिड की महबूबा मुफ्ती ने प्रशंसा की है। जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि आखिरकार एक व्यक्ति ऐसा निकला जिसने द कश्मीर फाइल्स पर सत्ताधारी पार्टी के प्रोपगैंडा का सच उजागर कर दिया है। महबूबा ने द कश्मीर फाइल्स पर नदव लैपिड के बयान की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह दुखद है सच्चाई का मुंह बंद करने के लिए कूटनीतिक चैनल का उपयोग किया गया। 

बता दें कि इजरायली फिल्मनिर्माता नदव लैपिड ने बतौर ज्यूरी मेंबर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल गोवा में डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री की फिल्म द कश्मीर फाइल्स को वल्गर और प्रोपगैंडा कहा था। इस फिल्म में 90 के दशक में जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद को पनपते दिखाया गया है। इसमें कश्मीरी पंडितों की पीड़ा को शिद्दत से दिखाया गया है। इजरायली फिल्मनिर्माता नदव लैपिड के बयान से भारत के राजनीतिक एवं फिल्म जगत में तूफान खड़ा हो गया। अब इस विवाद में महबूबा मुफ्ती ने भी अपना पक्ष दिया है। महबूबा ने ट्वीट कर कहा है कि 'आखिरकार किसी ने इस फिल्म का नाम लिया जो और कुछ नहीं बल्कि सत्ताधारी दल द्वारा मुस्लिमों, विशेष तौर पर कश्मीरियों को नीचा दिखाने और पंडितों एवं मुसलमानों के बीच की खाई को चौड़ा करने के लिए प्रोपगैंडा के रूप में उपयोग किया गया था।'

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा ने कहा कि ये दुख की बात है कि सच को खामोश करने के लिए कूटनीतिक माध्यमों का उपयोग किया जा रहा है। बता दें कि नदव लैपिड के इस बयान के पश्चात् भारत में इजरायल के राजदूत ने लैपिड के इस बयान को गलत करार दिया था एवं उन्होंने फिल्मनिर्माता को फटकार भी लगाई थी। 

जिला जेल में साध्वी का हुआ सत्संग, बंदियों ने नशा नहीं करने की ली शपथ

मुर्गे के खिलाफ दर्ज हुई FIR, चौंकाने वाला है मामला

भादवामाता मंदिर का होगा भव्‍य निर्माण, 26 करोड़ के निर्माण कार्यो का हुआ भूमिपूजन

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -