जानिए क्यों दिनेश कार्तिक ने की खुद की तारीफ

Nov 07 2019 06:04 PM
जानिए क्यों दिनेश कार्तिक ने की खुद की तारीफ

इन दिनों टीम इंडिया से भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर-बल्लेबाज दिनेश कार्तिक बाहर चल रहे हैं, लेकिन 34 वर्ष के इस खिलाड़ी को उम्मीद है कि अगले वर्ष ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी 20 विश्व कप के लिए चीजें बदलेंगी. कार्तिक ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि टी 20 विश्व कप आने वाला है और मैं भारतीय टीम के लिए इस टूर्नामेंट में फीनिशर की भूमिका निभाने के लिए बेताब हूं. मैं इस रोल को निभाने को लेकर पूरी तरह से आश्वस्त हूं और अगर हमें बड़ा टोटल चेज करने को मिलता है तो मध्यक्रम में मैं ये भूमिका निभा सकता हूं. 

Ind vs Ban T 20: राजकोट में जिसने जीता टॉस, उसी का हुआ मैच, देखें रिकॉर्ड

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार विश्व कप से बाद से कार्तिक टीम इंडिया से बाहर चल रहे हैं. हालांकि हाल ही में खेले गए विजय हजारे ट्रॉफी में उन्होंने 59.71 की औसत से 418 रन बनाए थे. उन्होंने कहा कि अपने राज्य के सीनियर खिलाड़ी होने के नाते ये मेरी जिम्मेदारी बनती है कि मैं टीम के लिए योगदार दूं. दिनेश कार्तिक अब सैयद मुश्ताक अली टी 20 टूर्नामेंट में तमिलनाडु टीम की कप्तानी करने जा रहे हैं. इस टीम में आर अश्विन, मुरली विजय, विजय शंकर जैसे खिलाड़ी मौजूद हैं. इन खिलाड़ियों के टीम में होने के बावजूद ये टीम जीत की दावेदार नहीं है। कार्तिक ने कहा कि हमारी टीम में काफी अच्छे खिलाड़ी हैं, लेकिन हम अपनी क्षमता के मुताबिक इस प्रारूप में प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं.

रितु फोगाट ने तय किया नया लक्ष्य, कहा - अब मार्शल आर्ट में बनना है वर्ल्ड चैंपियन

तमिलनाडु ने साल 2006-07 में पहली बार खेले गए इस टूर्नामेंट का खिताब अपने नाम किया था. फाइनल मैच में तमिलनाडु ने पंजाब को हराया था. इसके बाद इस टीम ने फाइनल में कभी जगह बनाने में कामयाबी हासिल नहीं की. दिनेश कार्तिक ने कहा कि हमने शायद इस टूर्नामेंट में अपनी ताकत के मुताबिक प्रदर्शन नहीं किया है और हमें अभी और आगे जाना है. मुझे ये पता है कि हम इस टूर्नामेंट में सबसे मजबूत टीम नहीं हैं, लेकिन हम अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश करेंगे.

स्मृति मंधाना ने रचा नया इतिहास, इस मामले में विराट कोहली को भी पछाड़ा

मैच फिक्सिंग में गिरफ्तार हुए दो भारतीय खिलाड़ी, धीमी बल्लेबाजी के लिए थे पैसे

मनिका बत्रा ने खोला राज, बताया क्यों लिया था बचपन के कोच को बदलने का फैसला