दिल से हसाना तुम क्या जानो

दिल से हसाना तुम क्या जानो

ेरी शख्सियत को तुम क्या जानो
छीन सकते हो होंठो की मुस्कान
हुनर मेरे मन की ख़ुशी का क्या जानो,,,,,,
दे सकते हो आंसू आँखों को मेरी
पर दिल से हसाना तुम क्या जानो,,,,,,,