दिल के अरमान

हमारी किसी बात से नाराज मत होना.

कभी भी हमारी बातो से नाराज न होना.

पहली बार चाहा है हमने किसी को इतना.

चाह कर भी कभी हमसे दूर न होना.

दिलो में नफरत,

चेहरों पर मुस्कान रखते है.

वो हमसे बचाकर तीर रखते है.

मौका मिलते ही देते है सीने में उतार.

किसी भिखारी को को एक बूँद पानी न दिया.

पर ज़न्नत पाने का, वो अरमान रखते हैं.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -