दिग्गी राजा को भी बनना है कांग्रेस अध्यक्ष ! गहलोत-थरूर के बाद रेस में नया नाम शामिल

नई दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह भी अब पार्टी अध्यक्ष की दौड़ में शामिल हो गए हैं। दिग्विजय सिंह आज इसी सिलसिले में दिल्ली पहुंच रहे हैं और यहां पर वो पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ मुलाकात करेंगे। इससे पहले कांग्रेस सांसद शशि थरूर, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी कांग्रेस अध्यक्ष बनने की दौड़ में हैं। शशि थरूर ने तो मधुसूदन मिस्त्री से मिलकर चुनाव प्रक्रिया के संबंध में चर्चा भी की थी। इस तरह कांग्रेस अध्यक्ष पद को लेकर रस्साकशी तेज हो गई है।

कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए आज नोटिफिकेशन जारी की जाएगी। एक दिन पहले राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत और पार्टी के वरिष्ठ नेता शशि थरूर के चुनावी दंगल में उतरने का स्पष्ट संकेत दे दिए हैं। अब 22 वर्षों के लम्बे अंतराल के बाद देश की सबसे पुरानी पार्टी का प्रमुख चुनाव के माध्यम से चुना जाएगा। राहुल गांधी और सोनिया गांधी ने चुनाव में हिस्सा लेने से इंकार कर दिया था, जिसके बाद चुनाव के संकेत बढ़ गए हैं।

वहीं, गहलोत पहले ही दो टूक शब्दों में कह चुके हैं कि वह पार्टी का हर फैसला मानेंगे, मगर उससे पहले राहुल गांधी को अध्यक्ष बनने के लिए मनाने का एक अंतिम प्रयास करेंगे। दूसरी ओर, पहले से ही चुनाव लड़ने का संकेत दे रहे लोकसभा सांसद थरूर ने कांग्रेस के हेडक्वार्टर में पहुंचकर पार्टी के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री से मुलाकात की और नामांकन की प्रक्रिया के बारे में जानकारी ली। वैसे, कुछ अन्य नेताओं के भी चुनावी समर में उतरने की संभावना को खारिज नहीं किया जा सकता।

अध्यक्ष बनने के लिए नहीं मान रहे राहुल गांधी :-

बता दें कि, अशोक गहलोत, मल्लिकार्जुन खड़गे जैसे कांग्रेस के कई नेताओं द्वारा मनाए जाने के बाद भी राहुल गांधी अध्यक्ष पद वापस स्वीकारने के लिए राजी नहीं हो रहे हैं। 2019 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की शर्मनाक हार के बाद राहुल ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था।  जिसके बाद सोनिया गांधी ने पार्टी के अंतरिम अध्यक्ष का पद संभाला था। अब सियासी गलियारों में चर्चा है कि यदि राहुल अंतिम समय में भी मान जाते हैं तो पार्टी प्रमुख की कुर्सी उनके पास ही जा सकती है। कुछ सियासी पंडित यह भी कह रहे हैं कि, शशि थरूर अच्छे विकल्प हैं, लेकिन वो रिमोट अध्यक्ष नहीं बनेंगे, इसलिए राहुल के न मानने पर गांधी परिवार अशोक गहलोत को यह पद सौंपा जा सकता है। 

'दिल्ली-पंजाब में क्यों लागू नहीं करते OPS', केजरीवाल पर CM बघेल ने बोला जमकर हमला

Wipro ने 300 कर्मचारियों को नौकरी से निकला, चेयरमैन ने बताया ये कारण

भारतीय रॉकेट्स को मिली नई तकनीक, ISRO ने किया 30 केएन हाइब्रिड मोटर का सफल परिक्षण

  

 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -