कोरोना वायरस के कारण इस खिलाड़ी को विदेश जाने में हो रही है परेशानी

पाक क्रिकेट बोर्ड (Pakistan Cricket Board)) कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के चलते लागू वैश्विक यात्रा प्रतिबंधों के कारण पीठ की चोट से परेशान तेज गेंदबाज हसन अली को उपचार के लिए विदेश भेजने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है.

लंबे समय से पीठ दर्द से परेशान हैं हसन अली: पीसीबी के मेडिकल बोर्ड के प्रमुख डाक्टर सोहेल सलीम ने जियो न्यूज चैनल पर बोला कि बोर्ड ने ऑस्ट्रेलिया व दक्षिण अफ्रीका के विशेषज्ञों से सलाह करने के बाद इसके उपचार के बारे में पूछा है. यात्रा प्रतिबंध खत्म होने पर हसन को भेजने का फैसला लिया जाएगा. हसन ने पिछले वर्ष इंग्लैंड में हुए दुनिया कप के बाद पाक के लिए नहीं खेला है. उन्होंने हालांकि फरवरी में पाक सुपर लीग के कुछ मुकाबले खेले थे. इस दौरान फिर से उनके पीठ में दर्द होने लगा था. उन्होंने बोला कि पिछले वर्ष सितंबर में भी हसन ने पीठ दर्द की समस्या थी व यह स्पष्ट था कि उन्हें अब इसके लिए स्थायी इलाज की आवश्यकता है. डाक्टर सलीम ने कहा, ‘रिहैब व थेरेपी एक विकल्प है. इसका स्थायी निवारण सर्जरी से होगा. ’

सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट से बाहर हो चुके हैं हसन अली: हसन अली कमर में चोट के चलते पिछले वर्ष ज्यादा मैच नहीं खेल पाए थे व एक बार फिर उनकी कमर की चोट उबर पाई है, जिस वजह से पीसीबी ने उन्हें कॉन्ट्रैक्ट नहीं दिया. हालांकि खबरों के मुताबिक हसन इससे बहुत ज्यादा नाराज हैं व वह पाकिस्तानी टीम का व्हाट्सएप ग्रुप छोड़ चुके हैं. मोहम्मद आमिर (Mohammad Amir) को सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट क्यों नहीं दिया गया, इसके पीछे पॉलिटिक्स नजर आती है. दरअसल मोहम्मद आमिर ने ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले आकस्मित टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह दिया था जिसके बाद पाक के कोच, पीसीबी के ऑफिसर उनसे नाराज हो गए थे.

बेहद ही दिलचस्प है इस क्रिकेटर की लाइफ जर्नी

जानिए आखिर क्यों इस पाकिस्तानी खिलाड़ी ने पीसीबी के WHATS APP ग्रुप से किया लेफ्ट

आखिर क्यों नहीं कर पाएंगे रोहित और रहाणे क्रिकेट की प्रैक्टिस

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -