इस कारण नहीं ले पाते कपल सेक्स में पॉर्न जैसा आनंद

इस कारण नहीं ले पाते कपल सेक्स में पॉर्न जैसा आनंद

पॉर्न फिल्म देखना आज के हर युवा को पसंद आती है. पॉर्न देख-देखकर लोग सेक्स को लेकर बहुत सारी ऐसी इच्छाएं पाल लेते हैं, जो हकीकत से कोसों दूर होती हैं. जी हाँ, पॉर्न में होने वाला सेक्स और असल में होने वाला सेक्स बहुत अलग होता है जिसके बारे में कुछ लोग तो जानते होंगे लेकिन कुछ इसे एक जैसा ही मानते होंगे. लेकिन आपको बता देते हैं क्या अंतर् होता है रियल सेक्स और पॉर्न सेक्स में. पॉर्न देखकर ही वे रियल लाइफ के रियल सेक्स का आनंद उस तरह नहीं उठा पाते, जिस तरह वो चाहते है. रियल सेक्स को एंजॉय करना है तो अपने दिमाग से पॉर्न सेक्स की वजह से पैदा हुई सारी एक्सपेक्टेशंस को बाहर निकालना होगा. इसी के साथ जान लें क्या अंतर् होता है  इनमे.

* पुरुषों के निजी पार्ट्स: नॉर्मल लोगों के मुकाबले एडल्ट फिल्मों में काम करने वाले पुरुषों के निजी अंग सही ढ़ंग से विकसित होते हैं.

* हेयरी जेनिटल्स: पॉर्न स्टार्स के जेनिटल हेयर न के बराबर होते हैं. जबकि रियल लाइफ में 65 प्रतिशत औरतों और 85 प्रतिशत पुरुषों के जेनिटल्स हेयर ग्रोथ ज्यादा होती है.

* उत्तेजना: सामान्य लोगों की भावनाओं को उत्तेजित होने में 10-12 मिनट का समय लगता है, जबकि पॉर्न स्टार्स इतना वक्त नहीं लेते.

* ऑर्गैजम: फीमेल पॉर्न स्टार्स केवल पेनिट्रेशन से ही ऑर्गैजम तक पहुंच जाती हैं, जबकि असल में 71 प्रतिशत औरतें केवल पेनिट्रेशन से ऑर्गैजम तक नहीं पहुंच पातीं.

* ऐनल सेक्स: एडल्ट स्टार्स के मुकाबले केवल 40 प्रतिशत महिलाएं इसमें इंवॉल्व हो पाती हैं.

शीघ्र पतन की परेशानी को दूर करने के लिए ये करें ये काम

महिलाएं ये दिखा कर करती हैं अपने पार्टनर को आकर्षित

इन चीज़ों से महिलाएं अक्सर करती हैं हस्थमैथुन