अयोध्या में जिनके घर-दुकान टूटे, क्या उन्हें मुआवजा मिला? कलेक्टर ने बताई सच्चाई

अयोध्या में जिनके घर-दुकान टूटे, क्या उन्हें मुआवजा मिला? कलेक्टर ने बताई सच्चाई
Share:

लखनऊ: लोकसभा चुनाव 2024 में भारतीय जनता पार्टी को उत्तर प्रदेश की फैजाबाद (अयोध्या) सीट से हार का सामना करना पड़ा है. इस हार के पश्चात् कारण तलाशे जा रहे रहैं. इन सबके बीच आरोप लगे कि रामनगरी में विकास कार्यों के लिए मकान व दुकान तो जमकर तोड़े गए किन्तु जिला प्रशासन द्वारा उसका मुआवजा नहीं दिया गया. जिसको लेकर अब अयोध्या जिला प्रशासन का बयान सामने आया है. प्रशासन की तरफ से दावा किया गया कि प्रभावित लोगों को क्षतिपूर्ति के रूप में 1253 करोड़ रुपये दिये जा चुके हैं.

रिपोर्ट्स के अनुसार, अयोध्या के कलेक्टर नितीश कुमार ने बताया कि राम जन्मभूमि पथ, भक्ति पथ, राम पथ, पंच कोसी परिक्रमा मार्ग, चौदह कोसी परिक्रमा मार्ग और अयोध्या एयरपोर्ट के निर्माण के चलते मकान और दुकानें हटाए जाने से प्रभावित हुए अयोध्या निवासियों को मुआवजे के रूप में 1,253.06 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है. गौरतलब है कि अयोध्या जिला प्रशासन का यह बयान ऐसे वक़्त में आया है जब हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में फैजाबाद सीट पर सपा के उम्मीदवार अवधेश प्रसाद के हाथों भाजपा की हार के लिए लोग सोशल मीडिया पर अयोध्या के विकास के नाम पर सैकड़ों लोगों के मकान एवं दुकानें ध्वस्त किए जाने को लेकर उपजे जन आक्रोश को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. समाजवादी पार्टी के अवधेश प्रसाद ने भारतीय जनता पार्टी उम्मीदवार और दो के सांसद लल्लू सिंह को 54,567 वोटों से चुनाव हराया है.

मंगलवार को जारी एक बयान में, जिला मजिस्ट्रेट नीतीश कुमार ने कहा कि अयोध्या में यातायात एवं आवागमन की सुविधाओं को आधुनिक और सुचारू बनाने के लिए सड़क के दोनों तरफ के दुकानदारों, भवन मालिकों और भूस्वामियों के साथ समन्वय करके विभिन्न प्रमुख सड़कों एवं रास्तों का सौंदर्यीकरण और चौड़ीकरण किया गया था. प्रभावित लोगों का नियमानुसार पुनर्वास किया गया तथा उन्हें अनुग्रह धनराशि तथा मुआवजा प्रदान किया गया. कलेक्टर ने कहा कि रामपथ, भक्तिपथ, राम जन्मभूमि पथ तथा पंचकोसी एवं चौदहकोसी परिक्रमा मार्ग के सौंदर्यीकरण एवं चौड़ीकरण के कारण 4,616 दुकानदार प्रभावित हुए. इनमें से 4,215 दुकानदारों/व्यापारियों को, जिनकी दुकानें "चौड़ीकरण के कारण आंशिक रूप से प्रभावित हुई थीं, प्रति दुकानदार (आंशिक रूप से ध्वस्त की गई दुकान के आकार के आधार पर) अनुग्रह राशि का भुगतान किया गया. क्योंकि कुछ वक़्त तक उनका व्यवसाय प्रभावित रहा. 

इसके साथ ही प्रशासन द्वारा उनकी दुकानों का व्यापक सौंदर्यीकरण भी किया गया तथा ये सभी दुकानदार उसी स्थान/दुकान पर अपना-अपना व्यवसाय/दुकान चला रहे हैं तथा वर्तमान में उनका व्यवसाय कई गुना बढ़ गया है व सुचारू रूप से चल रहा है. उक्त सड़कों के सुंदरीकरण/चौड़ीकरण में कुल 401 दुकानदारों को पूरी तरह से विस्थापित किया गया, जिनमें से 339 दुकानदारों को प्राधिकरण द्वारा दुकानें आवंटित की गई हैं. बकौल डीएम- दूसरी जगह शिफ्ट होने की वजह से कुछ वक़्त के लिए उनका व्यवसाय प्रभावित होने की वजह से, उनके खातों में प्रति दुकानदार 1 लाख से 10 लाख रुपये (हटाए गए दुकान के आकार के आधार पर) की अनुग्रह राशि अलग से भुगतान की गई है. सड़कों/पथों के सुंदरीकरण/चौड़ीकरण की वजह से कुल 79 परिवार पूरी तरह से विस्थापित होकर बस गए हैं. 

फैजाबाद लोकसभा सीट हार के पश्चात् लोगों के एक वर्ग ने दावा किया कि शहर के विकास और सौंदर्यीकरण ने स्थानीय लोगों को परेशान किया है तथा यह भारतीय जनता पार्टी की हार के कारणों में से एक है. सपा के जिला अध्यक्ष पारसनाथ यादव ने भी शिकायत की थी कि सड़कों को चौड़ा करने के लिए घरों को तोड़ा गया. उन्होंने कहा- यहां के लोगों के साथ अन्याय हो रहा है तथा उन्हें उनके स्थानों से उखाड़ा जा रहा है. जिसपर अब जिला प्रशासन ने साफ किया है कि इस कार्य से कुल 1,845 भूमि मालिक/भवन मालिक प्रभावित हुए, जिन्हें नियमानुसार मुआवजे एवं अनुग्रह राशि के रूप में उनके खातों में 300.67 करोड़ रुपये की राशि प्रदान की गई है. इसी प्रकार अयोध्या धाम तक हवाई यात्रा की सुविधा के लिए नवनिर्मित महर्षि वाल्मीकि अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के निर्माण के लिए सभी प्रभावित परिवारों को नियमानुसार पुनर्वासित किया गया है. 

बयान में बताया गया है कि प्रभावित भूमि स्वामियों से समन्वय स्थापित कर उनकी सहमति के आधार पर भूमि अधिग्रहण का कार्य किया गया, जिसमें भूमि स्वामियों/भवन स्वामियों के खातों में कुल 952.39 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया. 22 जनवरी को राम मंदिर के भूमि पूजन कार्यक्रम से पहले वहां राम जन्मभूमि पथ, भक्ति पथ, राम पथ, पंच कोसी परिक्रमा मार्ग, चौदह कोसी परिक्रमा मार्ग एवं अयोध्या हवाई अड्डा जैसे विकास कार्य किए गए.  

घरेलू विवाद में सास की निर्मम हत्या करने वाली बहू को कोर्ट ने सुनाई 'मौत की सजा'

बलौदा बाजार हिंसा मामले में सरकार का बड़ा एक्शन, कलेक्टर और SP को किया बर्खास्त

1 महीने में श्री सांवलिया सेठ मंदिर में आया इतना चढ़ावा, जानकर उड़ जाएंगे होश

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -