क्या चीन से ही फैला था कोरोना वायरस ? WHO के टॉप इमरजेंसी एक्सपर्ट ने दिया जवाब

क्या चीन से ही फैला था कोरोना वायरस ? WHO के टॉप इमरजेंसी एक्सपर्ट ने दिया जवाब

जेनेवा: विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के टॉप इमरजेंसी एक्सपर्ट ने शुक्रवार को कहा कि संगठन के लिए यह कहना "अत्यधिक अटकलबाजी" होगा कि कोरोना वायरस चीन से नहीं फैला. बता दें कि कोरोना वायरस को गत वर्ष दिसंबर में पहली बार चीन के एक फूड मार्केट से पहली बार कोरोना वायरस की पहचान हुई थी.

चीन अपने स्टेट के मीडिया के माध्यम से यह नैरेटिव बनाता रहा है कि वुहान में वायरस के पाये जाने से पहले यह दूसरे में मौजूद था. आयातित फ्रॉजन फूड पैकेजिंग में कोरोना वायरस की उपस्थिति का हवाला देकर वह दावा करता रहा है कि गत वर्ष यह यूरोप में सर्कुलेट हो रहा था. WHO के इमरजेंसी एक्सपर्ट माइक रेयान ने जिनेवा में एक वर्चुअल ब्रीफिंग में कहा कि, "मुझे लगता है कि यह कहना हमारे लिए अत्यधिक अटकलबाजी है कि यह बीमारी चीन से नहीं फैली." रेयान ने यह बता तब कही जब उनसे पूछा गया था कि क्या कोरोना वायरस पहली बार चीन के बाहर इमर्ज हुआ.

इस पर रेयान ने कहा कि, "यह एक पब्लिक हेल्थ के दृष्टिकोण से साफ़ है कि आप अपनी जांच वहां से आरंभ करते हैं जहां मामले पहली बार सामने आए थे." उन्होंने आगे कहा कि साक्ष्य फिर अन्य जगहों पर ले जा सकते हैं. रेयान ने यह भी दोहराया कि WHO ने वायरस की उत्पत्ति की जांच के लिए रिसर्चर्स को वुहान फूड मार्केट में भेजने की योजना बनाई है, इसके बाद चीज़ें साफ़ हो जाएंगी. बता दें कि WHO पर ट्रंप प्रशासन 'चीन-केंद्रित' होने का आरोप लगाता रहा है और WHO ने आरोपों को बार-बार नकारा है.

9-9 बच्चे पैदा करने वाले बिहार का क्या विकास करेंगे ?' अपने बयान पर नितीश कुमार ने अब दी सफाई

मोदी सरकार में पहली बार आधिकारिक रूप से मंदी में चली गई अर्थव्यवस्था, राहुल का केंद्र पर हमला

हैदराबाद चुनाव: योगी के दौरे से पहले ओवैसी का हमला, कहा - भाजपा पर जनता करेगी डेमोक्रेटिक स्ट्राइक