अचानक आया दाऊद का फोन, कहा साहब अब तो पीछा छोड़ दो...

मुंबई : इस वर्ष कई महत्वपूर्ण पुस्तकों ने कई तरह के विवादों को जन्म दिया। अब दिल्ली के पूर्व कमिश्नर नीरज कुमार की पुस्तक 'डायल डी फाॅर डाॅन' रिलीज़ होने जा रही है। इस पुस्तक के विमोचन से पूर्व ही पुस्तक में प्रकाशित अंशों को लेकर विवाद सामने आने लगे हैं। दरअसल विवाद की कोई वजह तो नहीं है लेकिन कुछ ऐसी जानकारियां सामने आई हैं जो बेहद आश्चर्यजनक हैं। दाऊद को जब बाॅलीवुड अभिनेता संजय दत्त को हथियार दिए जाने की बात उसके भाई अनीस से मिली तो उसने अपने भाई को बहुत पीटा था।

यह बात सामने आने के बाद सुनने वालों में आश्चर्य छा गया है। यही नहीं नीरज कुमार ने दावा किया है कि वर्ष 2013 में उनके पास एक फोन आया था। यह दाऊद की आवाज़ थी। तब उसने कहा था क्या साहब आप रिटायर होने वाले हैं, अब तो पीछा छोड़ दो। दरअसल वे आईपीएल स्पाॅट फिक्सिंग मसले की जांच में जुटे थे। अपनी पुस्तक पर चर्चा करते हुए पूर्व पुलिस कमिश्नर नीरज कुमार ने कहा कि दाऊद ने उनसे चार बार फोन पर चर्चा की और उसमें उसने सवाल किया था कि क्या आप यह मानते हैं कि मुंबई में ब्लास्ट मेने करवाए?

एक अंग्रेजी समाचार पत्र ने नीरज कुमार की इस पुस्तक को लेकर जानकारी दी है। जिसमें उन्होंने कहा कि किताब में कई तरह की रहस्यमयी जानकारियां समाहित हैं। नीरज कुमार ने दावा किया है कि दाऊद इब्राहिम ने यह स्वीकार किया था कि उसके भाई अनीस ने बाॅलीवुड एक्टर संजय दत्त के यहां हथियार रखे थे। दरअसल यह बात सामने आई थी कि फिल्म यलगार की दुबई में शूटिंग हुई थी जिसमें यह बात सामने आई थी कि  सिक्युरिटी के चलते अनीस से हथियार संजय ने मांगे थे।

अनिस से संजय तक हथियार पहुंचाए थे। जब दाऊद को इसकी जानकारी लगी तो उसने अनीस की पिटाई की। हालांकि दाऊद ने तीन बार फोन कर यही बताया कि मुंबई धमाके में उसका हाथ नहीं है। जब नीरज ने इस मामले में अपने अधिकारियों को सफाई देने का प्रयास किया तो उन्होंने उसे बुरी तरह से फटकार दिया। कुमार ने कहा कि दाऊद मुंबईया लहजे में चर्चा कर रहा था।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -