हैं डायबिटीज के मरीज हैं तो भूलकर भी ना खाए यह चीजें

हमारा खान-पान और लाइफस्टाइल आज के समय में लगातार खराब होता जा रहा है। जी हाँ और इसके चलते क्रोनिक बीमारियों का प्रकोप बढ़ रहा है। आप सभी को बता दें कि क्रोनिक बीमारियों में सबसे खतरनाक डायबिटीज की बीमारी है। जी दरअसल डायबिटीज की बीमारी गलत खान-पान और खराब लाइफस्टाइल के कारण होती है। जी हाँ और डायबिटीज के कारण शरीर में कई अन्य बीमारियां पनपती हैं। वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों को देखे तो विश्व में करीब 42.2 करोड़ लोग डायबिटीज से पीड़ित हैं। इसी के साथ ही करीब 15 लाख लोगों की मौत हर साल प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से डायबिटीज के कारण होती है।

आपको बता दें कि डायबिटीज की बीमारी में इंसुलिन हार्मोन शुगर या कार्बोहाइड्रेट का अवशोषण नहीं कर पाता है। इस वजह से खून में ब्लड शुगर की मात्रा बढ़ जाती है। वहीं बढ़ा हुआ ब्लड शुगर हार्ट, किडनी, लंग्स और आंख सहित शरीर के कई अंगों को नुकसान पहुंचाता है। ऐसे में जिनको पहले से डायबिटीज है उनका ब्लड शुगर भी तब बढ़ता है जब उसका खान-पान खराब हो जाता है। आपको बता दें कि कुछ ऐसे फूड हैं जो ब्लड शुगर की मात्रा को कई गुना बढ़ा देता है। आज हम आपको उन्ही के बारे में बताने जा रहे हैं।

ब्लड शुगर बढ़ाने वाले फूड-

डायबिटीज होने पर दिखने लगते हैं ये लक्षण, भूल से भी ना करें नजरअंदाज

प्रोसेस्ड और रेड मीट- प्रोसेस्ड फूड सभी के लिए नुकसानदेह है लेकिन डायबिटीज के मरीजों के लिए रेड मीट और प्रोसेस्ड फूड दुश्मन से कम नहीं है। जी हाँ और प्रोसेस्ड मीट जैसे कि हॉट डॉग, बेकन, हेमबर्गर, पाई, सलामी आदि मीटों में सोडियम और नाइट्राइट की मात्रा बहुत अधिक होती है। ऐसे में यह टाइप 2 डायबिटीज और दिल के रोगों का भी खतरा बढ़ाती है। आपको बता दें कि जिस खाद्य पदार्थ को ज्यादा दिनों तक चलाने के लिए इनमें केमिकल मिलाया जाता है, उसे प्रोसेस्ड फूड कहते हैं। चिप्स, चीज, ब्रेकफास्ट सिरएल्स, टींड वेजिटेबल, स्नेक्स, क्रिस्प, सॉसेज, पेस्ट्री, माइक्रोवेव मील्स, केक, बिस्कुट, सॉ़फ्ट ड्रिक आदि प्रोसेस्ड फूड है।

प्रोसेस्ड चीनी वाले फूड- ब्रेड, मफिन, केक, क्रैकर्स, पास्ता जैसी चीजों में बहुत ज्यादा कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है और जर्नल ऑफ द अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन (JAMA) की रिपोर्ट के मुताबिक 2007 के एक अध्ययन में पाया गया था कि हैवी कार्बोहाइड्रेट फूड्स टाइप-2 डायबिटीज के मरीजों की परेशानी को 21 फीसदी तक बढ़ा देते हैं। इसके अलावा सफेद आटे, सफेद चीनी और सफेद चावल से बने फूड हैवी कार्बोहाइड्रेट फूड्स के उदाहरण हैं।

सॉफ्ट ड्रिंक- युवाओं में सॉफ्ट ड्रिंक्स का चलन सबसे ज्यादा है लेकिन सॉफ्ट ड्रिंक्स के कई नुकसान है। हाल ही में हुए एक अध्ययन के मुताबिक रोजाना सिर्फ दो बार सॉफ्ट ड्रिंक्स पीने से टाइप 2 डायबिटीज का जोखिम 26 फीसदी तक बढ़ सकता हैं। सोडा, मीठी चाय का सेवन, फलों के जूस और नींबू पानी का अधिक सेवन करने से ब्लड शुगर तेजी से बढ़ता है।

सेचुरेटेड और ट्रांस फैट- एनिमल फूड जैसे कि मीट, बटर, डेयरी प्रोडक्ट, कोकोनट ऑयल और इन चीजों से बने फूड चॉकलेट, टॉफी, पुडिंग, बिस्कुट, पेस्ट्रीज, मीट, प्रोसेस्ड मीट, क्रीम, चीज आदि सेचुरेटेड फैट के उदाहरण हैं। केवल यही नहीं बल्कि इनका सेवन करने से डायबिटीज मरीजों में ब्लड शुगर का लेवल बढ़ जाता है और इसके अलावा ट्रांस फैट यानी तली-भुनी या पैकेज्ड फूड से भी ब्लड शुगर बढ़ता है।

अगर दिख रहे हैं ये लक्षण तो समझ लीजिये हो गए हैं हाई ब्लड प्रेशर के शिकार

सेक्सुअल हेल्थ के लिए वरदान हैं ये चीजें, पुरुषों को रोज करना चाहिए सेवन

बच्चो को जल्द चपेट में ले लेता है किडनी कैंसर, जानिए लक्षण

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -