'कीचड़ में पत्थर नहीं फेंकना चाहिए', नवाब मलिक के आरोपों पर बोले फडणवीस

मुंबई: मुंबई में क्रूज ड्रग केस को लेकर समीर वानखेड़े पर लगातार हमला देखने को मिल रहा है। जी दरअसल नवाब मलिक ने अब तक उनपर काफी आरोप लगाए हैं। अब आज भी नवाब मलिक ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की और आज उनके निशाने पर रहे राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस। जी दरअसल आज प्रेस कॉन्फ्रेंस में नवाब मलिक ने कहा, 'फडणवीस की सरकार में जाली नोट चलाने वाले लोगों को संरक्षण मिला था। इन लोगों के तार दाऊद से भी जुड़े थे।'

इसी के साथ नवाब मलिक ने यह भी कहा कि, '8 नवंबर 2016 को जब नोट बंदी हुई तो मोदी जी ने कहा था कि बड़े पैमाने पर जाली नोट खत्म करने के लिए हम नोटबंदी का काम कर रहे हैं। नोटबंदी हुई तो हर देश के हर हिस्से में जाली नोट पकड़े जाने लगे। लेकिन महाराष्ट्र में एक भी जाली नोट का मामला सामने नहीं आया। देवेंद्र जी के प्रोटेक्शन में महाराष्ट्र में जाली नोटों का खेल चल रहा था। 8 अक्टूबर 2017 को BKC में डायरेक्टर इंटेलिजेंस रिवेन्यू ने एक छापेमारी की, जिसमें ₹14 करोड़ 56 लाख के जाली नोट पकड़े गए।'

वहीं अब नवाब के इन बयानों के बाद देवेंद्र फडणवीस ने इशारों में उनपर तंज कसा है। जी दरअसल उन्होंने जार्ज बर्नाड शॉ की कुछ लाइनों को ट्वीट किया है और नवाब मलिक का दिया जवाब दिया है। आप देख सकते हैं देवेंद्र फडणवीस ने ट्वीट कर लिखा है- 'मैंने काफी समय पहले पढ़ा था कभी सूअर से नहीं भिड़ना चाहिए। आप मैले हो सकते हैं। हालांकि, सुअर को यह पसंद आता है!' अपने इस ट्वीट के माध्यम से पूर्व सीएम यह कहना चाहते थे कि कीचड़ में पत्थर नहीं फेंकना चाहिए। आप सभी जानते ही होंगे कि इस समय देवेंद्र और नवाब के बीच एक जंग छिड़ चुकी है और दोनों लगातार एक-दूजे पर तंज कस रहे हैं।

'आपने राजनीति का क्रिमिनालिजेशन किया', देवेंद्र फडणवीस पर भड़के नवाब मलिक

जल्द होगी मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की सर्जरी, दर्द से हैं परेशान

बढ़ने वाली हैं नवाब मलिक की मुश्किलें, गवर्नर से मिला वानखेड़े परिवार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -